ट्विटर पर अपना विजन स्पष्ट करें एलन मस्क, ब्रिटेन की संसद का फरमान

िटेन ट्विटर के उपयोगकर्ताओं की सुरक्षा के साथ-साथ फ्री स्पीच को संतुलित करने के लिए अरबपति एलन मस्क की योजनाओं के बारे में अधिक जानकारी चाहता है।।

ट्विटर पर अपना विजन स्पष्ट करें एलन मस्क, ब्रिटेन की संसद का फरमान

यूके की संसद की डिजिटल समिति ने टेस्ला के सीईओ एलन मस्क से ट्विटर के लिए अपने प्रस्तावों के बारे में अधिक विस्तृत साक्ष्य मुहैया करने के लिए कहा है। ब्रिटेन की कॉमन्स डिजिटल, कल्चर, मीडिया और स्पोर्ट कमेटी ने मस्क को संसद में आमंत्रित भी किया है।

दरअसल ब्रिटेन ट्विटर के उपयोगकर्ताओं की सुरक्षा के साथ-साथ फ्री स्पीच को संतुलित करने के लिए अरबपति एलन मस्क की योजनाओं के बारे में अधिक जानकारी चाहता है।। टेस्ला बॉस को लिखे एक पत्र में समिति के अध्यक्ष जूलियन नाइट ने लिखा कि ऐसे समय में जब सोशल मीडिया कंपनियां दुनिया भर में कड़े नियमों की संभावना का सामना कर रही हैं हम इस बारे में अधिक जानने के लिए उत्सुक हैं कि मस्क कैसे ट्विटर के उपयोगकर्ताओं को ऑनलाइन नुकसान से बचाने के अलावा फ्री स्पीच के लिए अपनी स्पष्ट प्रतिबद्धता को संतुलित करेंगे।

नाइट ने ट्विटर पर आमंत्रण पत्र साझा करते हुए कहा कि समिति के सामने पेश होने से मस्क को ट्विटर के लिए अपने प्रस्तावों को और गहराई से स्थापित करने का एक आदर्श अवसर मिलेगा और हम उनका स्वागत करने के लिए तत्पर हैं। बता दें कि यह पत्र मस्क को व्यक्तिगत रूप से भेजा गया था और ट्विटर पर अपलोड किया गया था।

इस पर एलन ने जवाब में कहा है कि आपके सवालों का जवाब देना जल्दबाजी होगी। जवाबी ईमेल में मस्क ने लिखा कि मैं सम्मानित हूं और आपके निमंत्रण के लिए संसद को धन्यवाद देता हूं। लेकिन इस समय आपका निमंत्रण स्वीकार करना जल्दबाजी होगी। न्यूयॉर्क में मेट गाला में चलते हुए एलन ने कहा कि वह सार्वजनिक जांच के लिए सॉफ़्टवेयर डालकर ट्विटर को पारदर्शी बना देंगे। इसमें ट्वीट्स को बढ़ावा देने और डिमोट करने के तरीके भी शामिल होंगे।

उन्होंने मंगलवार को यह भी ट्वीट किया कि ट्विटर पर सरकार और वाणिज्यिक उपयोगकर्ता निकट भविष्य में प्लेटफॉर्म का उपयोग करने के लिए मामूली शुल्क का भुगतान करेंगे। लेकिन उन्होंने आगे इस पर कोई टिप्पणी नहीं की कि यह कैसे आगे बढ़ेगा। हालांकि उन्होंने यह उल्लेख किया कि ट्विटर हमेशा अनौपचारिक उपयोगकर्ताओं के लिए मुफ्त रहेगा।

जानकारी के लिए बता दें कि ब्रिटेन की संसद के लिए ऐसा पहली बार नहीं है जब जांच के संबंध में किसी ने जवाब न दिया हो। साल 2018 में फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग ने फर्जी खबरों की जांच के संबंध में सवालों के जवाब देने से इनकार कर दिया था।