एलन मस्क की कंपनी स्टारलिंक ने भारत में बनाई सहयोगी फर्म, ये है योजना

स्टारलिंक की योजना सैटेलाइट्स के एक समूह के जरिए वैश्विक ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी उपलब्ध कराने की है। अंतरिक्ष के क्षेत्र में कई महत्वाकांक्षी लक्ष्यों के साथ शुरू हुई स्पेसएक्स ने नवंबर 2019 में सैटेलाइट लॉन्च करने की शुरुआत की थी।

एलन मस्क की कंपनी स्टारलिंक ने भारत में बनाई सहयोगी फर्म, ये है योजना

एलन मस्क की सैटेलाइट कंपनी स्टारलिंक ने अपने कारोबार को भारत में पंजीकृत किया है और देश में लाइसेंस के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया में है। स्टारलिंक इंडिया के निदेशक संजय भार्गव ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि कंपनी का इरादा अगले साल यानी 2022 में सस्ती सैटेलाइट ब्रॉडबैंड सेवाएं शुरू करने का है। हालांकि यह नियामकीय अनुमति मिलने के बाद ही संभव हो सकेगा।

Starlink
इस महीने की शुरुआत में स्टारलिंक ने घोषणा की कि वह इंटरनेट सेवाएं प्रदान करने के लिए 10 ग्रामीण लोकसभा क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित करेगी। Photo by ANIRUDH / Unsplash

भार्गव ने अपनी लिंक्डइन पोस्ट में कहा, 'यह बताते हुए खुशी हो रही है कि अब स्पेसएक्स की भारत में एक 100 फीसदी स्वामित्व वाली सहायक कंपनी है। इसका नाम एसएससीपीएल यानी स्टारलिंक सैटेलाइट कम्यूनिकेशन प्राइवेट लिमिटेड है और इसके निगमन की तारीख एक नंबर 2021 है। अब हम लाइसेंस के लिए आवेदन कर सकते हैं और बैंक खाते खोलने जैसे काम कर सकते हैं।'