इथियोपिया पहुंचे जयशंकर बोले, 'भारत का झंडा बुलंद कर रहे हैं भारतीय प्रवासी'

अदीस अबाबा में भारतीय दूतावास की वेबसाइट के अनुसार इथियोपिया में भारतीय प्रवासी 6,000-7,000 के बीच होने का अनुमान है। लगभग 40 विश्वविद्यालयों और उच्च शिक्षण संस्थानों में लगभग 1,200 भारतीय लेक्चरर या प्रोफेसर हैं।

इथियोपिया पहुंचे जयशंकर बोले, 'भारत का झंडा बुलंद कर रहे हैं भारतीय प्रवासी'

इथियोपिया पहुंचे भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर ने आज वहां बसे भारतीय प्रवासियों के साथ बातचीत की अपनी कुछ तस्वीरें साझा की। साथ ही इथियोपिया में प्रवासियों की भूमिका की सराहना करते हुए कई दिलचस्प जानकारी बताई। इसके अलावा वह इथियोपिया की राष्ट्रपति सहले-वर्क ज्यूडे से भी मिले और कई मसलों पर विचार-विमर्श किया।

दौरे पर इथियोपिया पहुंचे भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर ने इथियोपिया की राष्ट्रपति सहले-वर्क ज्यूडे से मुलाकात की।

भारतीय प्रवासियों को लेकर एस जयशंकर ने बताया कि यहां बसे भारतीय शिक्षा और रोजगार सृजन में सराहनीय भूमिका अदा कर रहे हैं। इथियोपिया के समाज में उनके योगदान को व्यापक रूप से मान्यता हासिल है। भारत का झंडा ऊंचा रखने के लिए मैं उन सभी को धन्यवाद करता हूं।

बता दें कि अदीस अबाबा में भारतीय दूतावास की वेबसाइट के अनुसार इथियोपिया में भारतीय प्रवासी 6,000-7,000 के बीच होने का अनुमान है। इस पूर्वी अफ्रीकी देश में कई भारतीय कंपनियां हैं। कई इथियोपियाई कंपनियां भी हैं, जो भारतीय कामगारों को नियुक्त करती हैं। आज इथोपिया के शैक्षिक क्षेत्र में भारतीय समुदाय की बड़ी उपस्थिति है। लगभग 40 विश्वविद्यालयों और उच्च शिक्षण संस्थानों में लगभग 1,200 भारतीय लेक्चरर या प्रोफेसर हैं। वेबसाइट के अनुसार इथियोपिया में भारतीय समुदाय के शुरुआती निवासी 19वीं शताब्दी के उत्तरार्ध के वर्षों में गुजरात से आए थे। शाही समय के दौरान पूरे इथियोपिया के स्कूलों में यहां तक ​​कि सबसे दूरदराज के हिस्सों में भी हजारों भारतीय शिक्षक थे।

जयशंकर ने इथियोपिया की राजधानी अदीस अबाबा में नए भारतीय दूतावास चांसरी भवन का औपचारिक उद्घाटन भी किया। इस अवसर पर उनके साथ इथियोपिया की महिला और सामाजिक मामलों की मंत्री एर्गोगी टेस्फेय और विदेश मामलों के राज्य मंत्री टेस्फेय यिल्मा भी शामिल हुए।

जयशंकर ने कार्यक्रम की तस्वीरें साझा करते हुए ट्वीट किया कि अदीस अबाबा में नए भारतीय दूतावास के चांसरी भवन का औपचारिक रूप से उद्घाटन करते हुए मुझे बेहद खुशी है। इथियोपिया के राजूदत औ उनकी टीम को मैं उनके काम के लिए बधाई देता हूं। उन्होंने इस अवसर पर शामिल होने के लिए टेस्फाये और यिल्मा को भी धन्यवाद दिया। एक अन्य ट्वीट में जयशंकर ने कहा कि उन्हें मंत्री टेस्फाये को तेलुगु में बोलते हुए सुनकर खुशी हुई। जयशंकर ने कहा कि उन्होंने अपनी पीएचडी @ICCR_hq छात्रवृत्ति के तहत की है। उन्हें तेलुगु बोलते हुए सुनकर बहुत अच्छा लगा।

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने इथियोपिया की राष्ट्रपति सहले-वर्क ज्यूडे से मुलाकात की जिसके दौरान उन्होंने द्विपक्षीय सहयोग पर चर्चा की और क्षेत्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्थिति पर दृष्टिकोणों का विचारों को साझा किया। जयशंकर ने ट्वीट किया कि शिक्षा, स्वास्थ्य, निवेश, साथ ही विकास साझेदारी सहित हमारे द्विपक्षीय सहयोग पर हमारे बीच एक अच्छी चर्चा हुई है।