वन नेशन के प्रत्याशी अमित बातिश बोले- ऑस्ट्रेलिया में हम कोटा व्यवस्था नहीं चाहते

कोटा व्यवस्था को लेकर बातिश ने कहा कि हम देख चुके हैं कि इसने भारत में काम नहीं किया। मुझे याद है कि जब 1990 के दशक में मंडल आयोग गठित हुआ था, तब वहां कोटा व्यवस्था थी। इसका उद्देश्य कभी अच्छा नहीं रहा।

वन नेशन के प्रत्याशी अमित बातिश बोले- ऑस्ट्रेलिया में हम कोटा व्यवस्था नहीं चाहते

ऑस्ट्रेलिया में पहली पीढ़ी के प्रवासी अमित बातिश पश्चिमी सिडनी संघीय क्षेत्र चिफ्ले के लिए वन नेशन पार्टी के उम्मीदवार हैं। इस सीट पर लेबर पार्टी का 50 साल से अधिक समय से वर्चस्व रहा है। वर्तमान सांसद एड ह्यूसिक लगातार चौथे कार्यकाल के लिए चुनावी मैदान में हैं।

बातिश यहां यथास्थिति को चुनौती देना चाहते हैं। उनका कहना है कि सभी बड़े राजनीतिक दल एक तरह से एक जैसे ही हैं। उन्होंने कहा कि एक के बाद एक आ रही दो सत्ताधारी पार्टियों में कोई अंतर नहीं है। लेकिन अगर आप पर्दा हटाएंगे तो आप यह देखेंगे कि दोनों एक ही हैं।

उन्होंने कहा कि ये राजनीतिक दल लोगों के बारे में परवाह नहीं करते। वे सिर्फ अपने हित की चिंता करते हैं। उल्लेखनीय है कि 15 साल से अधिक समय से कारोबार संभाल रहे बातिश 2016-17 में सक्रिय राजनीति से जुड़े थे। उन्होंने देश में कोटा व्यवस्था का भी विरोध किया है।

कोटा व्यवस्था को लेकर बातिश ने कहा कि हम देख चुके हैं कि इसने भारत में काम नहीं किया। मुझे याद है कि जब 1990 के दशक में मंडल आयोग गठित हुआ था, तब वहां कोटा व्यवस्था थी। इसका उद्देश्य कभी अच्छा नहीं रहा। मैं ऑस्ट्रेलिया में ऐसा होते नहीं देखना चाहता हूं।

वन नेशन पार्टी के साथ ही जुड़ने को लेकर बातिश ने कहा कि यह ऐसी पार्टी है जिसकी नीतियां असल मायनों में जमीनी स्तर पर लोगों के बारे में उन चुनौतियों के बारे में हैं जिनका लोग रोज सामना करते हैं। उन्होंने कहा कि वन नेशन के मूल्य ऐसे हैं जिनसे मैं खुद को जोड़ पाता हूं।