दो भारतीयों ने ऑनलाइन धोखाधड़ी कर 6,00,000 डॉलर हड़पे, गिरफ्तार

जीशान खान और अहमद शम्सी ने योजनाबद्द तरीके से सामाजिक सुरक्षा प्रशासन, एफबीआई, ड्रग प्रवर्तन प्रशासन जैसी प्रमुख एजेंसियों के सरकारी अधिकारी बनकर बात की और पीड़ितों को गंभीर कानूनी और वित्तीय परिणामों की धमकी दी।

दो भारतीयों ने ऑनलाइन धोखाधड़ी कर 6,00,000 डॉलर हड़पे, गिरफ्तार
Photo by Jefferson Santos / Unsplash

अमेरिका में दो भारतीय नागरिकों पर 6,00,000 डॉलर (लगभग 4.45 करोड़ रुपये) की धोखाधड़ी के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। 22 साल के जीशान खान और 24 बरस के माज अहमद शम्सी ने अमेरिकी के कैमडेन संघीय अदालत के जिला न्यायाधीश जोसेफ रोड्रिगेज के सामने खुद के उपर लगे आरोपों को कबूल भी लिया है। दोनों अभियुक्त न्यू जर्सी और पेन्सिलवेनिया में रहते थे।

Hacker binary attack code. Made with Canon 5d Mark III and analog vintage lens, Leica APO Macro Elmarit-R 2.8 100mm (Year: 1993)
भारत में बने कॉल सेंटरों के माध्यम से अमेरिकियों विशेष रूप से बुजुर्गों को धोखा देने के लिए स्वचालित रोबोकॉल का उपयोग किया गया। Photo by Markus Spiske / Unsplash

मामला ये है कि अमेरिका में ऑनलाइन धोखाधड़ी के मामले काफी बढ़ रहे हैं। इस मामले में दायर दस्तावेजों और अदालत में दिए गए बयानों के अनुसार जीशान खान और अहमद शम्सी ने योजनाबद्ध तरीके से भारत में बने कॉल सेंटरों के माध्यम से अमेरिकियों विशेष रूप से बुजुर्गों को धोखा देने के लिए स्वचालित रोबोकॉल का उपयोग किया और इन कॉल के माध्यम से संपर्क स्थापित करने के बाद आम लोगों को बड़ी रकम भेजने के लिए मजबूर किया।