दो संस्कृतियों को जोड़ रहे नई दिल्ली और कनाडा के दो ग्रुप

दो क्रिएटिव ग्रुप ने दक्षिण एशियाई मूल के कलाकारों की असल जीवन की कहानियों को सामने लाने के लिए पैनल डिस्कशन की सीरीज की शुरुआत की।

दो संस्कृतियों को जोड़ रहे नई दिल्ली और कनाडा के दो ग्रुप
(बाएं से दाएं): दर्शन ठक्कर, गगन सिंह, जैस्मीन पन्नू और अनुश्रेय सिंह

नई दिल्ली और कनाडा के दो क्रिएटिव ग्रुप ने दक्षिण एशियाई मूल के कलाकारों की असल जीवन की कहानियों को सामने लाने के लिए एक महीने के पैनल डिस्कशन की सीरीज की शुरुआत की है।

एक ग्रुप का नाम है यंग क्रिएटिव इंडियन स्पेस (वाईसीआईएस) जिसका हेडक्वार्टर नई दिल्ली में है, जबकि दूसरा ग्रुप ब्रैम्पटन से है, जिसका नाम आर्ट्स, कल्चरल एंड क्रिएटिव इंडस्ट्री डेवलपमेंट एजेंसी है। दोनों ग्रुप ने अपने पहले वर्चुअल इवेंट में दक्षिण एशियाई कलाकारों को जोड़ते हुए दो अलग-अलग संस्कृतियों को जोड़ने वाला एक कार्यक्रम पेश किया।

वाईसीआईएस के फाउंडर और फिल्ममेकर अनुश्रेय सिंह ने कहा, “यंग क्रिएटिव इंडियन स्पेस का उद्देश्य पूरी दुनिया के युवा भारतीय और दक्षिण एशियाई कलाकारों की रचनात्मकता को दुनिया के सामने लाने का प्रयास करना है। हम खुश हैं कि हम इस तरह के पैनल डिस्कशन का आयोजन कर रहे हैं, जहां दक्षिण एशिया की संस्कृति और रचनात्मकता पर लोग बढ़ चढ़कर हिस्सा ले रहे हैं।”