निबंध लिखकर अपनी समस्या और निदान बताएंगे दक्षिण एशियाई लोग

संयुक्त राज्य अमेरिका में बड़े होने और अमेरिकियों के रूप में पहचान बनाने के बावजूद हजारों दक्षिण एशियाई ड्रीमर्स को कई बाधाओं का सामना करना पड़ता है।

निबंध लिखकर अपनी समस्या और निदान बताएंगे दक्षिण एशियाई लोग

अमेरिका में दक्षिण एशियाई ड्रीमर्स (Dreamers) के मुद्दों को उजागर करने के लिए इंडियन अमेरिकन IMPACT संगठन ने "वी आर होम" (We are Home) निबंध प्रतियोगिता शुरू की है। भाग लेने वाले ड्रीमर्स को एक भारतीय अमेरिकी के रूप में अपनी जिंदगी का वर्णन 750 शब्दों के निबंध में करना होगा। इस प्रतियोगिता के फाइनलिस्ट को मेहमानों के साथ एक कार्यक्रम के लिए वाशिंगटन, डीसी में आमंत्रित किया जाएगा और उनके निबंध ब्राउन गर्ल पत्रिका (Brown Girl Magazine) में प्रकाशित होंगे। सभी निबंध 15 अक्टूबर को रात 11:55 बजे तक जमा करने होंगे।

इंपैक्ट संगठन लगातार भारतीय ड्रीमर्स की मदद कर रहा है। 

भारतीय-अमेरिकी संयुक्त राज्य अमेरिका में दूसरा सबसे बड़ा अप्रवासी समुदाय है, लेकिन फिर भी एक टूटी हुई आव्रजन प्रणाली बहुत से लोगों को नागरिकता प्राप्त करने और अमेरिकी सपने को साकार करने से रोकती है। यूएस में 12 लाख से अधिक अप्रवासी ऐसे हैं, जो मुख्य रूप से भारतीय हैं और ग्रीन कार्ड बैकलॉग के कारण नागरिकता के लिए कोई वास्तविक रास्ता नहीं होने के कारण लंबी अवधि के वीजा पर हैं। इम्पैक्ट ने हाल के महीनों में नागरिकता के लिए एक उचित मार्ग की वकालत को सर्वोच्च प्राथमिकता दी है।