'कई चुनौतियां लेकिन अमेरिकी इतिहास की सबसे मजबूत महिला बनेंगी हैरिस'

चिदानंद की किताब 'कमला हैरिस: फेनोमेनल वूमेन' (Kamala Harris: Phenominal Woman) में हैरिस के जीवन की घटनाओं का वर्णन किया गया है। राजघट्टा के अनुसार चूंकि वह पहली महिला और अश्वेत उप राष्ट्रपति हैं, ऐसे में उन्हें अमेरिकी इतिहास में किसी भी अन्य उप राष्ट्रपति से अधिक चुनौतियों का सामना करना पड़ा है।

'कई चुनौतियां लेकिन अमेरिकी इतिहास की सबसे मजबूत महिला बनेंगी हैरिस'

अमेरिका की पहली महिला, पहली भारतीय और पहली अश्वेत उप राष्ट्रपति कमला हैरिस के लिए स्थितियां आसान नहीं हैं। यह कहना है कि भारतीय पत्रकार और लेखक चिदानंद राजघट्टा का, जिन्होंने हैरिस के उद्भव पर एक किताब लिखी है। चिदानंद का कहना है कि कमला हैरिस के बारे में सबसे खास बात उनकी सहनशक्ति है। वह मजबूत हैं और हार नहीं मानतीं और पीछे नहीं हटतीं।

राजघट्टा के अनुसार चूंकि वह पहली महिला और अश्वेत उप राष्ट्रपति हैं, ऐसे में उन्हें अमेरिकी इतिहास में किसी भी अन्य उप राष्ट्रपति से अधिक चुनौतियों का सामना करना पड़ा है। उन्होंने कहा कि कोई भी उप राष्ट्रपति इतना चर्चा में नहीं रहा है। इतिहास की बात करें तो पहले उप राष्ट्रपति अपने कार्यकाल के चार साल सोते हुए बिता देते थे और किसी को कोई फर्क नहीं पड़ता था। लेकिन हैरिस के साथ स्थिति अलग है।