मैनचेस्टर सिटी ने अपने खिलाड़ियों को KGF-2 से क्यों जोड़ा, फिर क्यों हटाया?

दुनिया भर में भारतीय डायस्पोरा का भारतीय फिल्मों में बड़ा योगदान रहा है। कई भारतीय फिल्में ऐसी देखने को मिली हैं जो यूके, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, यूएई, श्रीलंका, हांगकांग, केन्या, मॉरीशस, कुवैत, बहरीन, बांग्लादेश, मलेशिया, मालदीव और ओमान सहित देशों में शीर्ष 10 की सूची में रही हैं।

मैनचेस्टर सिटी ने अपने खिलाड़ियों को KGF-2 से क्यों जोड़ा, फिर क्यों हटाया?

ब्रिटेन की इंग्लिश प्रीमियर लीग की फुटबॉल टीम मैनचेस्टर सिटी ने शुक्रवार को भारत की इस वक्त की सबसे चर्चित फिल्म केजीएफ-2 को अपने अंदाज में सम्मानित किया। मैनचेस्टर सिटी के ट्वीटर पेज से केजीएफ को टीम के तीन खिलाड़ी से जोड़कर दिखाया गया है, जिसमें के केविन डी ब्रुने, जी से गुंडोगन और एफ से फिल फोडेन पोस्टर में दिख रहे हैं। हालांकि पोस्टर को बाद में डिलीट कर दिया गया। वैसे इस पोस्टर को भारतीय अभिनेता और फिल्म निर्माता फरहान अख्तर ने भी अपनी अकाउंट से साझा किया। फरहान ने इस फिल्म को हिंदी में डब किया है।

पोस्टर क्यों डिलीट किया गया, इसके पीछे कोई निश्चित कारण नहीं पता चला है लेकिन सुर्खियों में आने के बाद पोस्ट को जल्द ही हटा दिया गया। KGF-2 दुनिया भर में 625 करोड़ से अधिक की कमाई करने वाली कन्नड़ फिल्म है। यह अब तक की नौवीं सबसे अधिक कमाई करने वाली भारतीय फिल्म है। व्यापार विश्लेषकों का अनुमान है कि फिल्म वैश्विक बॉक्स-ऑफिस पर 1000 करोड़ से ज्यादा कमाई कर सकती है।

दरअसल दुनिया भर में भारतीय डायस्पोरा का भारतीय फिल्मों में बड़ा योगदान रहा है। कई भारतीय फिल्में ऐसी हैं जो यूके, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, यूएई, श्रीलंका, पाकिस्तान, हांगकांग, केन्या, मॉरीशस, कुवैत, बहरीन, बांग्लादेश, मलेशिया, मालदीव और ओमान सहित देशों में शीर्ष 10 की सूची में रही हैं। भारतीय फिल्में जो कोविड महामारी के चलते सिनेमाघरों तक नहीं पहुंची पाईं, वह अब ओटीटी की मदद से दुनिया भर में देखी जा रही हैं। Zee5 एक भारतीय OTT प्लेटफॉर्म है जो अब 190+ देशों में सक्रिय है और जो रोजमर्रा के डायस्पोरा की मनोरंजन से जुड़ी जरूरतों को पूरा करता है।

ZEE5 ग्लोबल की मुख्य व्यवसाय अधिकारी अर्चना आनंद ने दावा किया कि फिल्मों ने हमारे लिए दर्शकों और सब्सक्रिप्शन दोनों की संख्या में वैश्विक बाजारों में बढ़ोतरी की है। यूके, यूएस, यूएई में विशाल डायस्पोरा और कई भाषा समानता के साथ हम इन बाजारों में बंगाली, तेलुगु, पंजाबी और तमिल सहित कई अन्य भारतीय भाषाओं की नई फिल्म रिलीज करते हैं जिसके चलते हमें एक मजबूत उछाल देखने को मिलता है।

उन्होंने कहा कि महामारी के दौरान पूरे विश्व में लॉकडाउन के साथ दर्शकों ने अपनी मनोरंजन जरूरतों को पूरा करने के लिए ओटीटी प्लेटफार्मों की ओर रुख किया। अधिकांश भारतीय और दक्षिण एशियाई डायस्पोरा के लिए इस अवधि के दौरान घर की यात्रा करने में असमर्थता ने उन्हें ओटीटी प्लेटफार्मों की ओर रुख करते हुए देखा क्योंकि उन्हें अपनी जड़ों और भाषा से जुड़े रहने की अधिक आवश्यकता महसूस हुई। ZEE5 सेवाओं में महामारी के कारण नए सब्सक्रिप्शन में 60% की वृद्धि देखी गई है।

बता दें कि 2,41,80,000 घंटों के साथ ऑनलाइन स्ट्रीमिंग पर कबीर खान की फिल्म 83 दुनिया भर में शीर्ष 10 गैर-अंग्रेजी फिल्मों में शामिल थी। ओवर-द-टॉप (ओटीटी) प्लेटफॉर्म नेटफ्लिक्स पर रिलीज के सप्ताह के बाद फिल्म लगातार दो हफ्तों तक क्रमशः चौथी और आठवीं सबसे अधिक देखी जाने वाली फिल्म थी।