स्पाइसजेट की कराची में इमरजेंसी लैंडिंग, घंटों बाद दूसरी फ्लाइट से पहुंचे दुबई

देर होते-होते मुम्बई से दूसरा विमान कराची भेजा गया जिसने सुबह से फंसे यात्रियों को लेकर रात 9.20 के आसपास दुबई के लिए उड़ान भरी। कुछ ऐसी ही घटना पिछले साल के मार्च महीने में हुई थी। भारत की इंडिगो एयरलाइंस की एक फ्लाइट को कराची एयरपोर्ट पर इमरजेंसी लैंडिंग करनी पड़ी

स्पाइसजेट की कराची में इमरजेंसी लैंडिंग, घंटों बाद दूसरी फ्लाइट से पहुंचे दुबई

स्पाइसजेट की दुबई जा रही फ्लाइट की अचानक कराची में इमरजेंसी लैंडिंग करानी पड़ी। करीब 12 घंटे तक यात्री कराची एयरपोर्ट पर अटके रहे। इसके बाद एक दूसरी फ्लाइट से वे दुबई के लिए रवाना हुए। मामला मंगलवार सुबह का है। बोइंग 737 की मैक्स फ्लाइट दिल्ली से दुबई जा रही थी। अधर में ही फ्यूल इंडीकेटर में खराबी आ गई। इस वजह से फ्लाइट को कराची की ओर मोड़ना पड़ा।

इस मसले पर नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने आज स्पाइसजेट को कारण बताओ नोटिस जारी किया है।

एक नागर विमानन अधिकारी ने बताया कि पाकिस्तान के नागरिक उड्डयन प्राधिकरण की अनुमति से भारतीय विमान के जिन्ना इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर उतारा गया। इसके बाद स्पाइसजेट के विमान में आई तकनीकी खराबी को दूर करने की कवायद शुरू हुई। देर होते-होते मुम्बई से दूसरा विमान कराची भेजा गया जिसने सुबह से फंसे यात्रियों को लेकर रात 9.20 के आसपास दुबई के लिए उड़ान भरी।

अधिकारी ने कहा कि पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस के इंजीनियरों ने भारतीय विमान में आई तकनीकी खराबी का पता लगाने और उसे ठीक करने के लिए स्पाइस जेट के चालक दल के साथ काम किया। इस दरम्यान सभी यात्रियों को ट्रांजिट लाउंज में पहुंचाया गया उनके खान-पान के साथ ही आतिथ्य का ध्यान रखा गया। जानकारी मिली की विमान के लाइट इंडीकेटर में खराबी आ गई थी जिसे तत्काल ठीक नहीं किया जा सकता था और न ही उसको इंजीनियरों की ओर से क्लीयरेंस मिल सकती थी लिहाजा मुम्बई से दूसरे विमान का इंतजाम करना पड़ा।

पिछले साल भी हुआ था कुछ ऐसा

कुछ ऐसी ही घटना पिछले साल के मार्च महीने में हुई थी। भारत की इंडिगो एयरलाइंस की एक फ्लाइट को कराची एयरपोर्ट पर इमरजेंसी लैंडिंग करनी पड़ी क्योंकि एक यात्री सीने में दर्द के कारण बीमार हो गया था। शारजाह-लखनऊ उड़ान बाद में अपनी मंजिल की ओर रवाना हुई मगर उस यात्री को नहीं बचाया जा सका क्योंकि कार्डियक अरेस्ट के चलते उसकी मौत हो गई थी।

उसी दिन टल गया दूसरा हादसा

दूसरा मामला कांडला से मुंबई जा रहे विमान का है। विमान के उड़ान भरते ही हवा में करीब 23 हजार फीट की ऊंचाई पर इसके विंडशील्ड में दरार आ गई। विमान की मुंबई में ही सुरक्षित तरीके से प्रायोरिटी लैंडिंग कराई गई। पिछले 17 दिनों में स्पाइसजेट के विमान में तकनीकी खराबी की यह सातवीं घटना है।

DGCA ने कारण बताओ नोटिस जारी किया

हालांकि इस मसले पर नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने आज स्पाइसजेट को कारण बताओ नोटिस जारी किया है जिसमें वाहक को यह बताने के लिए कहा गया है कि सुरक्षित, कुशल और विश्वसनीय हवाई सेवाएं स्थापित करने में विफल होने के लिए उसके खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं की जानी चाहिए।