डॉक्यूमेंट्री के प्रीमियर पर अनुपम खेर ने कश्मीरियों के दर्द और शरणार्थी बनने का दुख साझा किया

अल्पसंख्यकों पर आधारित डॉक्यूमेंट्री "स्टेटलेस" के प्रीमियर में प्रख्यात अभिनेता अनुपम खेर के साथ ही अमेरिका, यूरोप, भारत और सिंगापुर के 35 शहरों की प्रमुख हस्तियों ने हिस्सा लिया।

डॉक्यूमेंट्री के प्रीमियर पर अनुपम खेर ने कश्मीरियों के दर्द और शरणार्थी बनने का दुख साझा किया

संयुक्त राज्य अमेरिका, यूरोप, भारत और सिंगापुर के 35 शहरों की प्रमुख हस्तियों ने डॉक्यूमेंट्री "स्टेटलेस" के प्रीमियर में हिस्सा लिया। यह एक डॉक्यूमेंट्री है, जिसमें पाकिस्तान से भारत आए अल्पसंख्यकों की कहानी को दिखाया गया है।

इस डॉक्यूमेंट्री को 11 जुलाई को लॉस एंजिलिस से एक वर्चुअल इवेंट के जरिए प्रदर्शित किया गया। इस डॉक्यूमेंट्री को मानवेंद्र सिंह शेखावत ने डायरेक्ट किया है और निखिल सिंह राजपूत ने प्रोड्यूस किया है।

विश्व स्तर पर मशहूर एक्टर अनुपम खेर इस इवेंट के स्पेशल गेस्ट रहे। उन्होंने इस दौरान कश्मीरियों के दर्द के बारे में बात की, जिन्हें कश्मीर घाटी में जबरन घरों से बाहर निकाल दिया था और वे शरणार्थी के रूप में रहते थे।

खेर खुद एक कश्मीरी हैं। उन्होंने कहा, "किसी भी इंसान के लिए राज्यविहीनता की स्थायी स्थिति में रहना सबसे बड़ा अभिशाप है। इससे कुछ लोग गुजरते हैं।"

उन्होंने कहा, "जब आप इन लोगों के चेहरे देखते हैं, तो उन्हें पीड़ा होती है कि कैमरा उस मूमेंट को कैप्चर करता है, जब निर्देशक ने कहा होगा कि साउंड, कैमरा, एक्शन शुरू करें। वह मूमेंट 1 या 2 मिनट रहा होगा, लेकिन अन्य 23 घंटे 58 मिनट के बारे में क्या? वे उस वास्तविकता के साथ जी रहे हैं। वे उस दर्द के साथ जी रहे हैं।”