यह नियम नहीं बदला तो मां-बाप रहेंगे अमेरिका में, बच्चों को लौटना होगा भारत!

'डॉक्यूमेंटेड ड्रीमर्स' वे बच्चे हैं, जो कम उम्र में एच-1बी वीजा या लंबी अवधि के गैर-आप्रवासी वीजाधारक माता-पिता के साथ अमेरिका आए। अब वे 21 साल के हो चुके हैं। ऐसे में उन्हें या तो स्टडी वीजा लेकर रहना होगा या अपने देश वापस लौटना होगा। इसे लेकर अब संसद तक आवाजें उठने लगी हैं।

यह नियम नहीं बदला तो मां-बाप रहेंगे अमेरिका में, बच्चों को लौटना होगा भारत!
Photo by Jacob Morrison / Unsplash

भारतीय अमेरिकी अमी बेरा और आरओ खन्ना समेत 22 अमेरिकी सांसदों के साथ कांग्रेस सदस्य डेबोरा रॉस ने हाल ही में सदन की अध्यक्ष नैन्सी पेलोसी और सीनेट के बहुमत वाले नेता चक शूमर को एक पत्र सौंपा है। इसमें सभी ने आगामी बजट सुलह बिल में  'डॉक्यूमेंटेड ड्रीमर्स' के स्थायी निवास के लिए प्रावधान करने पर जोर दिया है।

'डॉक्यूमेंटेड ड्रीमर्स' वह बच्चे हैं, जो कम उम्र में एच-1बी वीजा या लंबी अवधि के गैर-आप्रवासी वीजाधारक माता-पिता के साथ अमेरिका शिफ्ट हुए थे। लेकिन अब उनकी उम्र 21 साल हो चुकी है। ऐसे में वह आश्रित वीजा पर नहीं रह सकते। उन्हें या तो स्टडी वीजा लेकर यहां रहना होगा या अपने देश वापस लौटना होगा। ऐसे हजारों भारतीय अमेरिकी बच्चों पर डिपोर्टेशन का खतरा मंडरा रहा है। इसे लेकर अब संसद तक आवाजें उठने लगी हैं।