जालंधर के गांव में जन्म, डॉक्टर बनीं, अब US की एक हेल्थकेयर एजेंसी ने बनाया अपना CEO

डॉ. गगन पवार ने अमृतसर के गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज से एमबीबीएस किया था जिसके बाद उन्होंने यूनिवर्सिटी ऑफ पेनसिल्वेनिया से एमडी किया। वह 2011 में एक चिकित्सक के रूप में एक कंपनी में शामिल हुई थीं और 2014 में मुख्य चिकित्सा अधिकारी बनीं और अब उसी कंपनी की सीईओ हैं।

जालंधर के गांव में जन्म, डॉक्टर बनीं, अब US की एक हेल्थकेयर एजेंसी ने बनाया अपना CEO

भारत के राज्य पंजाब के जालंधर की 41 वर्षीय मेडिको डॉ. गगन पवार अमेरिका स्थित एक हेल्थकेयर एजेंसी की मुख्य कार्यकारी अधिकारी बनाई गई हैं। जालंधर के मीठापुर गांव में जन्मीं डॉ. गगन के पिता मेजर-जनरल सरबजीत सिंह पवार (सेवानिवृत्त) हैं जो आज भी गांव में ही रहते हैं।

सरबजीत सिंह ने एक मीडिया को कहा कि यह परिवार में उत्सव का समय है क्योंकि उनकी बेटी अब क्लिनिकस डेल कैमिनो रियल आईएनसी नाम की 900 कर्मचारियों की एक कंपनी का नेतृत्व करेगी, जिसमें सभी विशिष्टताओं के 70 डॉक्टर शामिल हैं जो दक्षिणी कैलिफोर्निया में 16 क्लीनिक चला रहे हैं। डॉ. गगन पवार ने अमृतसर के गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज से एमबीबीएस किया था, जिसके बाद उन्होंने यूनिवर्सिटी ऑफ पेनसिल्वेनिया से एमडी किया।

वह 2011 में एक चिकित्सक के रूप में एक कंपनी में शामिल हुई थीं और 2014 में मुख्य चिकित्सा अधिकारी बनीं और अब उसी कंपनी की सीईओ हैं। नौकरी के दौरान उन्होंने एमबीए-फिजिशियन भी किया। वह वेंचुरा काउंटी मेडिकल एसोसिएशन की सदस्य रही हैं और कोविड के समय में उनके काम की काफी सराहना की गई है।

सिंह ने कहा कि अपनी कंपनी के लिए काम करने के अलावा मेरी बेटी महामारी शुरू होने के बाद से ही समुदाय के लिए अपनी सेवाएं दे रही है। काम पर जाने से पहले वह रेडियो टॉक भी कर रही है। वह आज भी नवीनतम आंकड़े, चिकित्सा साक्ष्य और कार्य योजना में बदलाव साझा करते हुए ये टॉक करती है।

वहीं, अपने पति और दो बेटों के साथ अमेरिका में जाकर बसी डॉ. पवार इसका श्रेय अपने परिवार को देती हैं। उन्होंने कहा कि मुझे अपना काम पसंद है। मैं हमेशा बतौर चिकित्सक आनंद के साथ काम करती हूं और मैं अभी भी प्रैक्टिस करती हूं भले ही यह अब मेरे काम का केवल 10% है।