भारत में चीनी नागरिकों के लिए अवैध लग्जरी क्लब चला रहा था अवैध चीनी प्रवासी, प्रेमिका भी पकड़ी

आरोपी की पहचान जू फी उर्फ ​​काइल के रूप में हुई है और उसकी प्रेमिका पेटेख नागालैंड के कोहिमा की रहने वाली है। जू फी चीन के हेबेई प्रांत के शिनजी काउंटी का रहने वाला है। वह नवंबर 2020 से खास तौर पर चीनी नागरिकों के लिए क्लब चला रहा था।

भारत में चीनी नागरिकों के लिए अवैध लग्जरी क्लब चला रहा था अवैध चीनी प्रवासी, प्रेमिका भी पकड़ी

भारत में अवैध रूप से रहने वाले चीनी नागरिकों को आश्रय देने के आरोप में एक चीनी नागरिक सहित दो लोगों को उत्तरप्रदेश के गौतमबुद्ध नगर से गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने पाया कि एक संदिग्ध व्यक्ति ग्रेटर नोएडा में अवैध रूप से एक लग्जरी क्लब चला रहा था।

पुलिस ने बताया कि जो चीनी नागरिक लग्जरी क्लब चला रहा था उसका वीजा 2020 में ही समाप्त हो गया था और वह नवंबर 2020 से खासतौर पर चीनी नागरिकों के लिए क्लब चला रहा था। आरोपी की पहचान जू फी उर्फ ​​काइल के रूप में हुई है और उसकी प्रेमिका पेटेख नागालैंड के कोहिमा की रहने वाली है।

जू फी की उम्र 36 वर्ष है और वह चीन के हेबेई प्रांत के शिनजी काउंटी का रहने वाला है।

जू फी की उम्र 36 वर्ष है और वह चीन के हेबेई प्रांत के शिनजी काउंटी का रहने वाला है। गौतमबुद्धनगर पुलिस ने मंगलवार शाम को घरबारा गांव स्थित अवैध तीन मंजिला क्लब पर छापेमारी की। प्रारंभिक रिपोर्ट के अनुसार चीनी नागरिकों और पूर्वोत्तर के भारतीयों ने क्लब का दौरा किया। छापेमारी के दौरान पुलिस ने चार भारतीय महिलाओं और दो नेपाली महिलाओं को भी हिरासत में लिया।

रपटो के अनुसार लगभग 15 से 20 चीनी नागरिक परिसर में मौजूद थे लेकिन पुलिस के मौके पर पहुंचने से पहले ही वे भागने में सफल रहे। इस अवैध क्लब को चीनी शैली में डिजाइन किया गया था। क्लब के बार और रेस्तरां में सब कुछ चीनी भाषा में लिखा था। कहीं भी हिंदी और अंग्रेसी भाषा में उल्लेख नहीं था।

पुलिस उपायुक्त (ग्रेटर नोएडा) मीनाक्षी कात्यायन ने कहा कि उनका ध्यान जू फी पर है जिसके पास भारतीय पासपोर्ट है और इसके अलावा गुजराती व्यवसायी रवि नटवरलाल को ढूंढना है जो जू फी का साथी और संपर्क बिंदु है। उन्होंने कहा कि नोएडा पुलिस पश्चिम बंगाल पुलिस, हरियाणा परिवहन प्राधिकरण और कई अन्य आंतरिक सुरक्षा एजेंसियों के साथ भी काम कर रही है।

पिछले हफ्ते, बिहार के सीतामढ़ी जिले में भारत-नेपाल सीमा को अवैध रूप से पार करने के आरोप में सशस्त्र सीमा बल द्वारा दो चीनी नागरिकों को गिरफ्तार किया गया था। दो चीनी नागरिकों की पहचान 28 वर्षीय लो लुंग और 34 वर्षीय युंग है लुंग के रूप में हुई है। एसएसबी के जवानों ने उन्हें भारतीय क्षेत्र के 300 मीटर अंदर पिलर नंबर 11/6 के पास से पकड़ा था। इनके पास से नेपाली पासपोर्ट, 3 एटीएम कार्ड, सिगरेट और कुछ अन्य सामान बरामद हुए थे। एक संक्षिप्त पूछताछ के दौरान दो चीनी नागरिकों ने कहा कि वे चीन से थाईलैंड और काठमांडू के रास्ते नेपाल आए और बिहार सीमा तक पहुंचने के लिए दो साइकिल किराए पर लीं थीं।