अमेरिका में उत्तराखंड समुदाय ने जनरल रावत को नम आंखों से दी श्रद्धांजलि

चिन्मय मिशन ओंकार सेंटर के आचार्य निर्मिता ढोलकिया ने शहीद आत्माओं की मुक्ति के लिए 7 मिनट तक निर्वाण शतकम का पाठ भी किया। शोकसभा में शामिल होने वालों का कहना था कि सीडीएस बिपिन रावत का जाना भारत-अमेरिका के बीच संबंधों के लिए एक बहुत बड़ा धक्का है।

अमेरिका में उत्तराखंड समुदाय ने जनरल रावत को नम आंखों से दी श्रद्धांजलि

अमेरिका स्थित संस्था उत्तराखंड समाज ऑफ ग्रेटर शिकागो (यूएसओजीसी) के साथ अन्य संगठनों ने एक कार्यक्रम में भारत के चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) बिपिन रावत को श्रद्धांजलि दी। बता दें कि इस महीने की 8 तारीख को सीडीएस बिपिन रावत, उनकी पत्नी मधुलिका रावत सहित आर्मी से जुड़े 12 अन्य अधिकारियों की भारत के तमिलनाडु में सेना हेलिकॉप्टर क्रैश होने की वजह से मौत हो गई थी।

शोकसभा में सीडीएस रावत के जीवनी पर वीडियो भी दिखाकर उन्हें नम आंखों से याद किया गया। 

अमेरिका स्थित शिकागो काली बाड़ी मंदिर में हाल ही में आयोजित श्रद्धांजलि कार्यक्रम में भारतीय समुदाय और संगठनों से जुड़े कई लोग शामिल हुए। वहां आए लोगों ने भारत के इन 14 शहीदों की याद में श्रद्धा के फूल चढ़ाए और उनके चित्रों पर पुष्पांजलि अर्पित की। यूएसओजीसी के अहम सदस्य डॉ. अजित पंत ने शोक जताते हुए कहा कि भारत के सीडीएस बिपिन रावत का जाना भारत-अमेरिका के बीच संबंधों के लिए एक बहुत बड़ा धक्का है। उन्होंने कहा कि जनरल रावत क्वॉड प्रोग्राम (भारत, अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और जापान देशों का एक रणनीतिक संवाद समूह) को आगे बढ़ाने वाले और इसके सक्रिय सदस्य थे।