Skip to content

किस-किसने दिया सांसद राजा कृष्णमूर्ति को समर्थन, 28 को है प्राइमरी चुनाव

शिकागो ट्रिब्यूनल एडिटोरियल बोर्ड ने लिखा है कि अमेरिकी प्रतिनिधि राजा दो विरोधी राजनीतिक दलों के बीच सहयोग की केवल बात भर नहीं करते। वह काम भी करते हैं। उन्हें यह समर्थन प्राइमरी चुनाव से महज दो सप्ताह पहले प्राप्त हुआ है। इससे पहले उन्हें डेली हेराल्ड व कई शख्सियतों से भी समर्थन मिल चुका है।

इलिनॉइस में सबसे अधिक सर्कुलेशन वाले समाचार पत्र द शिकागो ट्रिब्यून ने आठवें जिले से चौथे कार्यकाल के लिए चुनाव लड़ रहे सांसद राजा कृष्णमूर्ति को समर्थन दिया है। भारतीय मूल के कृष्णमूर्ति इस समय आगामी 28 जून को होने वाले प्राइमरी चुनाव में डेमोक्रेटिक पार्टी की ओर से समर्थन मिलने की उम्मीद कर रहे हैं।

14 जून को शिकागो ट्रिब्यूनल एडिटोरियल बोर्ड ने लिखा है कि अमेरिकी प्रतिनिधि राजा कृष्णमूर्ति दो विरोधी राजनीतिक दलों के बीच सहयोग की केवल बात भर नहीं करते। वह काम भी करते हैं। उन्होंने देश के भविष्य व तकनीकी शिक्षा व्यवस्था के लिए संघीय सहयोग को बढ़ाने का काम किया है। सोलर सॉफ्ट कीमतों को कम करने के लिए उन्होंने रिपब्लिकंस के साथ भी मिलकर काम किया है। इससे देश में स्वच्छ ऊर्जा में निवेश को बढ़ावा मिला है और आसानी हुई है। बच्चों और किशोरों में ई-सिगरेट के चलन को कम करने के लिए भी एक विधेयक पर रिपब्लिकंस के साथ काम किया है।

कृष्णमूर्ति को यह समर्थन प्राइमरी चुनाव से महज दो सप्ताह पहले प्राप्त हुआ है। इससे पहले उन्हें डेली हेराल्ड जैसे प्रख्यात समाचार पत्र और कई शख्सियतों से भी समर्थन मिल चुका है। प्राइमरी चुनाव में कृष्णमूर्ति का मुकाबला अपने पूर्व सहयोगी जुनैद अहमद से होगा। जुनैद का कहना है कि कृष्णमूर्ति अब मेहनतकश परिवारों के बजाय कॉरपोरेट दानदाताओं का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं।

फेडरल इलेक्शन कमीशन के अनुसार चुनाव काल के दौरान धन जुटाने के मामले में कृष्णमूर्ति 10वें सबसे बड़े डेमोक्रेटिक पदाधिकारी हैं। 31 मार्च तक वह 56 लाख डॉलर (लगभग 43.70 करोड़ रुपये) एकत्र कर चुके हैं। वहीं जुनैद अहमद ने आठ लाख 26 हजार 832 डॉलर (लगभग 6.45 करोड़ रुपये ) जुटाए हैं।

Latest