कनाडा: अब एक्सप्रेस एंट्री छह माह में निपटेगी, कोरोना काल में दो साल थी

यह घोषणा ऐसे समय में आई है जब हाल ही में आए ताजा आंकड़ों में यह बात पता चली है कि कनाडा में बेरोजगदारी दर निम्न स्तर पर पहुंच गई है और 8,00,000 से अधिक नौकरी रिक्तियों को भरना है। कनाडा में एक्सप्रेस एंट्री वह मुख्य तरीका है, जिससे कनाडा कुशल कामगारों का स्वागत करता है।

कनाडा: अब एक्सप्रेस एंट्री छह माह में निपटेगी, कोरोना काल में दो साल थी
Photo by Arturo Castaneyra / Unsplash

कनाडा में जाकर नौकरी करने की चाह रखने वालों के लिए यह अच्छी खबर है। कनाडा प्रशासन ने घोषणा की है कि वह एक्सप्रेस एंट्री आवेदनों के प्रोसेस करने में तेजी लाएगा। इतना ही नहीं प्रशासन का कहना है कि अधिकांश नए आवेदन छह महीने के भीतर संसाधित भी कर दिए जाएंगे।

महामारी की वजह से अप्रवासन सेवाएं धीमी हो गई थीं।कई लोगों को अपने स्थायी निवास आवेदनों को अंतिम रूप देने के लिए इमिग्रेशन, रिफ्यूजी एंड सिटिजनशिन कनाडा यानी (IRCC) के लिए लगभग दो साल तक इंतजार करना पड़ा है। हालांकि महामारी की चपेट में आने से पहले एक्सप्रेस एंट्री के आवेदनों के लिए आमतौर पर 6 महीने लगते थे।

महामारी की चपेट में आने से पहले एक्सप्रेस एंट्री के आवेदनों के लिए आमतौर पर 6 महीने लगते थे। Photo by Hermes Rivera / Unsplash

यह घोषणा ऐसे समय में आई है जब हाल ही में आए ताजा आंकड़ों में यह बात पता चली है कि कनाडा में बेरोजगदारी दर निम्न स्तर पर पहुंच गई है और 8,00,000 से अधिक नौकरी रिक्तियों को भरना है। नियोक्ताओं को अपने कर्मचारियों की कमी को दूर करने में मदद करने के लिए अधिक अप्रवासी प्रतिभा की आवश्यकता है। कनाडा सरकार द्वारा साझा किए गए आंकड़ों के अनुसार अप्रैल में कनाडा का आप्रवासन बैकलॉग व्यापार सभी क्षेत्रों में 2.1 मिलियन से अधिक हो गया है।

बता दें कि कनाडा में एक्सप्रेस एंट्री वह मुख्य तरीका है, जिससे कनाडा कुशल कामगारों का स्वागत करता है। फेडरल स्किल्ड वर्कर प्रोग्राम यानी FSWP उम्मीदवारों को स्थायी निवास आमंत्रण के लिए दिसंबर 2020 और कैनेडियन एक्सपीरियंस क्लास (CEC) आवेदनों को सितंबर 2021 से रोक हुआ है। मिली जानकारी के मुताबिक एक बार इमिग्रेशन, रिफ्यूजी एंड सिटिजनशिन कनाडा यानी IRCC द्वारा फेडरल स्किल्ड वर्कर प्रोग्राम (FSWP), कैनेडियन एक्सपीरियंस क्लास (CEC) और फेडरल स्किल्ड ट्रेड्स प्रोग्राम (FSTP) के उम्मीदवारों के आमंत्रण को फिर से शुरू किया जाए तो जुलाई में एक्सप्रेस एंट्री शुरू हो सकती है।