हाय हाय गर्मी: कनाडा ने भारत जाने वाले अपने नागरिकों के लिए जारी की एडवाइजरी

कनाडा के नागरिकों से हाइड्रेटेड रहने का आग्रह किया गया है। विशेष रूप से जंगल की आग से धुएं से प्रभावित क्षेत्रों में बाहरी गतिविधियों से बचने के लिए और उन्हें शॉर्ट नोटिस पर यात्रा योजनाओं में बदलाव के लिए तैयार रहने के लिए भी कहा है।

हाय हाय गर्मी: कनाडा ने भारत जाने वाले अपने नागरिकों के लिए जारी की एडवाइजरी
Photo by Aliko Sunawang / Unsplash

भारत में बढ़ती गर्मी के चलते कनाडा ने अपने नागरिकों के लिए एडवाइजरी जारी की है। कनाडा ने भारत में लू और बिजली गुल होने पर एक यात्रा परामर्श जारी किया है जिसमें कनाडा ने अपने नागरिकों से स्थानीय स्वास्थ्य अधिकारियों के निर्देशों का पालन करने को कहा है।

कनाडाई सलाहकार ने कहा कि एक हीटवेव (sic) भारत को प्रभावित कर रही है। लू की वजह से जंगल में आग लग रही है। बिजली गुल हो रही है और फसल क्षतिग्रस्त हो गई हैं। जंगल की आग परिवहन को भी प्रभावित कर सकती है जिससे ट्रेन सेवा निलंबन और राजमार्ग बंद हो सकता है।

इसलिए कनाडा के नागरिकों से हाइड्रेटेड रहने का आग्रह किया गया है। विशेष रूप से जंगल की आग से धुएं से प्रभावित क्षेत्रों में बाहरी गतिविधियों से बचने के लिए और उन्हें शॉर्ट नोटिस पर यात्रा योजनाओं में बदलाव के लिए तैयार रहने के लिए भी कहा है जिसमें यात्रा की समय सीमा कम करने से लेकर यात्रा को रद्द करना तक शामिल है।

हालांकि इंडियन एसोसिएशन ऑफ टूर ऑपरेटर्स (IATO) को पर्यटकों के आगमन पर इस सलाह का महत्वपूर्ण प्रभाव नहीं दिखता है। IATO के अध्यक्ष राजीव मेहरा ने कहा कि भारत सरकार वर्तमान में कनाडाई लोगों को ई-वीजा जारी नहीं कर रही है और इससे भारत आने वाले पर्यटकों की संख्या सीमित हो गई है।

वहीं भारतीय मौसम विभाग ने अपने नवीनतम अपडेट में कहा है कि उत्तर पश्चिम और मध्य भारत में 122 वर्षों में सबसे गर्म अप्रैल का अनुभव हुआ है जिसमें औसत अधिकतम तापमान 35.9 से 37.7 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया। विभाग ने यह भी भविष्यवाणी की है कि गुजरात, राजस्थान, पंजाब और हरियाणा जैसे राज्यों में मई में भी सामान्य से अधिक तापमान रहने का अनुमान है।