अर्थव्यवस्था की रीढ़ हैं आप्रवासी, कनाडा सरकार ने बजट में किया इजाफा

रिपोर्ट के मुताबिक पिछले साल नवंबर महीने में कनाडा में करीब 9 लाख नौकरियों के अवसर सामने आए थे। ऐसे में कनाडा ने अपनी नई अप्रवासी नीति के तहत अगले तीन साल में 13 लाख लोगों को स्थायी नागरिकता देने की योजना बनाई है।

अर्थव्यवस्था की रीढ़ हैं आप्रवासी, कनाडा सरकार ने बजट में किया इजाफा
Photo by Guillaume Jaillet / Unsplash

कनाडा की नागरिकता की इच्छा रखने वाले भारतीयों के लिए एक अच्छी खबर है। कनाडा सरकार पहले से अधिक अप्रवासी लोगों को स्थायी नागरिकता देने की तैयारी कर रही है। कनाडा के आप्रवासन, शरणार्थी और नागरिकता मंत्री शॉन फ्रेजर ने दोहराया है कि वर्क परमिट देने की रफ्तार को तेज किया जाएगा। शॉन फ्रेजर के मुताबिक इसके लिए कनाडा ने करीब 6 अरब 35 करोड़ का बजट रखा है। इस बजट से वर्क परमिट देने की प्रक्रिया में जो समय लगता है उसमें कमी लाई जाएगी।

दरअसल, कोरोना महामारी के दौरान कामकाज ठप होने के चलते कनाडा सरकार के पास 18 लाख वीजा/नागरिकता आवेदन जमा हो गए हैं, जिसे क्लीयर करने में उसे जूझना पड़ रहा है। कनाडा सरकार को उम्मीद है कि इससे उसे कोरोना महामारी के बाद ग्रोथ की रफ्तार तेज करने और लेबर की भारी किल्लत को दूर करने में मदद मिलेगी। कनाडा में सबसे ज्यादा अप्रवासी नागरिक भारत से जाते हैं,ऐसे में कनाडा की नई नीति से सबसे ज्यादा फायदा भारतीयों को ही मिलने की उम्मीद है।