ब्रिटिश भारतीयों का 40 शहरों में प्रदर्शन, पाक में बंद हो जबरन धर्म परिवर्तन

प्रदर्शन के दौरान जानकारी दी गई कि 1947 में पाकिस्तान की अल्पसंख्यक आबादी लगभग 31 फीसदी थी। इनमें से लगभग 24 फीसदी हिंदू थे। आज 75 साल बाद अल्पसंख्यक आबादी घटकर 4 फीसदी रह गई है, जिसमें हिंदुओं की संख्या 1.6 फीसदी रह गई है।

ब्रिटिश भारतीयों का 40 शहरों में प्रदर्शन, पाक में बंद हो जबरन धर्म परिवर्तन

ब्रिटेन में रह रहे भारतीयों ने पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों पर हो रही हिस्सा और जबरन धर्मांतरण पर एक एक शांतिपूर्ण प्रदर्शन किया। हाल में हुआ यह शांतिपूर्व विरोध प्रदर्शन ब्रिटेन के 40 से अधिक शहरों में आयोजित किया गया था। प्रदर्शनकारियों की मांग की थी कि पाकिस्तान में हिंदू लड़कियों के जबरन धर्मांतरण को रोका जाए।

ब्रिटेन में बसे भारतीय मूल के लोग एडिनबर्ग, लीड्स, लीसेस्टर, सैलिसबरी, चेल्टनहैम, डर्बी और स्लो जैसे प्रमुख शहरों में एकत्र हुए और उन्होंने पाकिस्तान में हिंदू, सिख और ईसाई लड़कियों के कथित रूप से जबरन धर्म परिवर्तन के बारे में पर्चे बांटे। इन विरोध प्रदर्शनों का आयोजन ब्रिटिश हिंदू और भारतीय समुदायों के संगठन 'इनसाइट यूके' द्वारा किया गया था। 'इनसाइट यूके' की​ 100 से अधिक कस्बों या शहरों में एक मजबूत जमीनी उपस्थिति है।