भारत के साथ पक्षपात पर हॉकी टीम ने ब्रिटेन को कहा, नहीं खेलेंगे राष्ट्रमंडल खेल

हॉकी इंडिया के अध्यक्ष ज्ञानेंद्रो निंगोबम ने लिखा है कि ब्रिटेन ने भारतीयों पर विशेष रूप से 10 दिन का क्वारंटाइन अनिवार्य किया हुआ है, जो ब्रिटेन का पक्षपाती रवैया है। इस तरह के नियमों से खिलाड़ियों के प्रदर्शन पर भी असर पड़ेगा।

भारत के साथ पक्षपात पर हॉकी टीम ने ब्रिटेन को कहा, नहीं खेलेंगे राष्ट्रमंडल खेल

भारत सरकार के बाद अब भारत की हॉकी टीम ने भी ब्रिटेन के पक्षपाती रवैये पर कठोर कदम उठाते हुए बड़ा फैसला किया है। कोविड-19 से जुड़े ब्रिटेन के भेदभावपूर्ण क्वारंटीन नियमों के कारण भारत की हॉकी टीम ने अगले साल बर्मिंघम में होने वाले राष्ट्रमंडल खेलों की हॉकी प्रतियोगिता से हटने का फैसला लिया है।

हॉकी इंडिया के अध्यक्ष ज्ञानेंद्रो निंगोबम ने महासंघ के फैसले से भारतीय ओलिंपिक संघ के अध्यक्ष नरिंदर बत्रा को अवगत करा दिया है। हॉकी टीम इंडिया ने कहा है कि 28 जुलाई से 8 अगस्त के बीच होने वाले बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेलों और 10 से 25 सितंबर के बीच होने वाले ग्वांग्झू एशियाई खेलों के बीच मात्र 32 दिन का अंतर है और वह अपने खिलाड़ियों को ब्रिटेन भेजकर जोखिम नहीं उठाना चाहते। इंग्लैंड पिछले 18 महीने में पूरे यूरोप में कोरोना वायरस महामारी से सबसे अधिक प्रभावित देश रहा है।