गीता ने फिर रचा इतिहास, IMF की दीवार पर अंकित हुई बुलंदी की तस्वीर

गोपीनाथ 21 जनवरी, 2022 को IMF की पहली उप प्रबंध निदेशक बनीं थीं। इससे पहले गोपीनाथ ने तीन साल के लिए IMF पहली महिला मुख्य अर्थशास्त्री के रूप में कार्य किया था। अपनी वर्तमान भूमिका में गीता बहुपक्षीय मंचों पर कोष का प्रतिनिधित्व करती हैं।

गीता ने फिर रचा इतिहास, IMF की दीवार पर अंकित हुई बुलंदी की तस्वीर

भारत के ऐतिहासिक शहर कोलकाता में जन्मी गीता गोपीनाथ ने 2019 में अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) की पहली मुख्य अर्थशास्त्री बनकर इतिहास रचा था। अब एक और उपलब्धि हासिल कर गोपीनाथ ने बुलंदी की नई इबारत रच दी है। IMF ने अपनी पहली महिला मुख्य अर्थशास्त्री रह चुकीं गीता गोपीनाथ की तस्वीर अपने पूर्व मुख्य अर्थशास्त्रियों की तस्वीर के साथ लगाई है। यह गौरव पाने वाली वह पहली महिला और दूसरी भारतीय हैं। गोपीनाथ से पहले भारत के रघुराम राजन यह सम्मान प्राप्त कर चुके हैं।

गीता गोपीनाथ ने ट्विटर के जरिए अपनी तस्वीर को साझा करते हुए इस उपलब्धि की जानकारी दी है। उन्होंने इस तस्वीर के साथ इमोजी शेयर करते हुए कैप्शन में लिखा, ब्रेकिंग दि ट्रेंड..मैं पूर्व मुख्य अर्थशास्त्रियों के साथ अब आईएमएफ की दीवार को साझा कर रही हूं। इस दीवार पर IMF के 11 पूर्व मुख्य अर्थशास्त्रियों की तस्वीरें लगी हैं। अंत में गीता की तस्वीर है। इसी की ओर इशारा करते हुए गोपीनाथ ने ट्वीट किया है।

गोपीनाथ (50) 21 जनवरी, 2022 को IMF की पहली उप प्रबंध निदेशक बनीं थीं। इससे पहले उन्होंने तीन साल के लिए IMF पहली महिला मुख्य अर्थशास्त्री के रूप में कार्य किया था। अपनी वर्तमान भूमिका में गीता बहुपक्षीय मंचों पर कोष का प्रतिनिधित्व करती हैं। सदस्य सरकारों के साथ उच्च-स्तरीय संपर्क बनाए रखना उनका काम है और और बोर्ड के सदस्य, मीडिया और अन्य संस्थानों, निगरानी और संबंधित नीतियों पर फंड के काम का नेतृत्व करना उनकी जिम्मेदारी है। IMF की वेबसाइट के अनुसार विदेशी शोध एवं महत्वपूर्ण प्रकाशन भी उनके काम का हिस्सा हैं।

गीता गोपीनाथ भारत की विदेशी नागरिक हैं। उन्हें प्रवासी भारतीय सम्मान से नवाजा जा चुका है। भारत सरकार की ओर प्रवासी भारतीय को दिया जाने वाला यह सर्वोच्च सम्मान है। वॉशिंगटन यूनिवर्सिटी की ओर से भी उन्हें विशिष्ट पूर्व छात्र की उपाधि मिल चुकी है। गोपीनाथ ने सन 2001 में प्रिंसटन यूनिवर्सिटी से अर्थशास्त्र में डॉक्टरेट किया है। दिल्ली के लेडी श्रीराम कॉलेज से बीए और दिल्ली स्कूल इकॉनॉमिक्स तथा वॉशिंगटन यूनिवर्सिटी से एमए की डिग्रियां हासिल की हैं।