ऑस्ट्रेलिया में तेजस्वी सूर्या का क्यों हो रहा विरोध, उनका कार्यक्रम भी रद्द

ऑस्ट्रेलिया की स्वाइनबर्न यूनिवर्सिटी के अधिकारियों के साथ चर्चा के बाद आयोजकों ने कार्यक्रम रद्द किया है। अपने वार्षिक सम्मेलन में भाग लेने के लिए एक प्रतिनिधि के रूप में ऑस्ट्रेलिया इंडिया यूथ डायलॉग (AIYD) ने सांसद तेजस्वी सूर्य को बुलाया था।

ऑस्ट्रेलिया में तेजस्वी सूर्या का क्यों हो रहा विरोध, उनका कार्यक्रम भी रद्द

भारत के बड़े राजनैतिक दल भारतीय जनता पार्टी के युवा सांसद तेजस्वी सूर्या इन दिनों ऑस्ट्रेलिया में ऑस्ट्रेलिया भारत युवा संवाद में हिस्सा लेने पहुंचे हुए हैं। लेकिन उनकी या​त्रा का श्रीगणेश ही खराब हो गया है। दरअसल ऑस्ट्रेलिया में मानवाधिकार संगठनों के विरोध के बाद तेजस्वी के कैलेंडर का पहला कार्यक्रम रद्द कर दिया गया है।

ध्यान वाली बात यह भी है कि यह कार्यक्रम बिल्कुल आखिर में आकर रद्द किया गया है, जहां तेजस्वी सूर्या का छात्रों के साथ संवाद था। मिली जानकारी के अनुसार ऑस्ट्रेलिया की स्वाइनबर्न यूनिवर्सिटी के अधिकारियों के साथ चर्चा के बाद आयोजकों ने कार्यक्रम रद्द किया है। हालांकि इस कार्यक्रम का आयोजन सिडनी की स्वाइनबर्न यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलॉजी की ओर से नहीं किया गया था। लेकिन शिक्षा केंद्र ऑस्ट्रेलिया (ECA) ने पररामट्टा की इमारत में इस कार्यक्रम की योजना बनाई थी, जहां स्विनबर्न यूनिवर्सिटी भी स्थित है।

सोशल मीडिया पर राष्ट्रवाद के लिए पहचाने जाने वाले भाजपा सांसद तेजस्वी सूर्या ऑस्ट्रेलिया इंडिया यूथ डायलॉग (AIYD) के निमंत्रण पर ऑस्ट्रेलिया आए थे। दरअसल अपने वार्षिक सम्मेलन में भाग लेने के लिए एक प्रतिनिधि के रूप में ऑस्ट्रेलिया इंडिया यूथ डायलॉग (AIYD) ने सांसद तेजस्वी सूर्य को बुलाया था।

तेजस्वी सूर्य को निमंत्रण दिए जाने के विरोध में संबंधित शिक्षाविदों का एक समूह, भारतीय डायस्पोरा के वैश्विक कार्यकर्ता और ऑस्ट्रेलियन अलायंस अगेंस्ट हेट (AAAH) से संबंधित विभिन्न नागरिक समाज समूहों के सदस्य हैं, जिन्होंने ऑस्ट्रेलिया इंडिया यूथ डायलॉग (AIYD) से भाजपा नेता तेजस्वी सूर्या को भेजे गए निमंत्रण के बारे में गंभीर चिंता जताई है।

भारतीय मूल की जानी-मानी ऑस्ट्रेलियाई लेखिका और UNSW में क्रिएटिव राइटिंग में लेक्चरर रोना गोंजाल्विस ने ट्विटर पर ऑस्ट्रेलिया में तेजस्वी सूर्या का समर्थन नहीं करने की अपील की थी। गोंजाल्विस ने ट्वीट किया था कि हिंदू धर्म यानी सुंदर, जीवन का आध्यात्मिक तरीका लेकिन हिंदुत्व फासीवादी स्त्री द्वेषी, सैन्यवादी, वर्चस्ववादी विचारधारा होती है। कृपया ऑस्ट्रेलिया में ऐसे स्त्री द्वेषी, हिंदुत्व फासीवादी का समर्थन न करें। कृपया यहां याचिका पर हस्ताक्षर करें।

वहीं वेस्टर्न सिडनी विश्वविद्यालय के डॉ. सुखमनी खुराना ने ट्वीट किया था कि यह निंदनीय है कि एक उच्च शिक्षा के संदर्भ में एक गलत, सैन्यवादी विचारधारा का मंचन किया जा रहा है। हमें बेहतर दक्षिण एशियाई साक्षरता की आवश्यकता है, जो अनजाने में हानिकारक हो सकती है। बता दें कि आयोजन के सिलसिले में तेजस्वी सूर्या के दौरे को रोकने के लिए एक ऑनलाइन याचिका भी शुरू की गई है।