अमेरिका में पढ़ेगा बिहार के दिहाड़ी मजदूर का बेटा, मिली 2.5 करोड़ की स्कॉलरशिप

प्रेम के पिता दिहाड़ी मजदूरी करके अपने परिवार के चार सदस्यों का पेट पालते हैं। प्रेम साल के आखिर में मैकेोनिकल इंजीनियरिंग एंड इंटरनेशनल रिलेशंस में बैचलर्स की पढ़ाई के लिए अमेरिका जाएगा।

अमेरिका में पढ़ेगा बिहार के दिहाड़ी मजदूर का बेटा, मिली 2.5 करोड़ की स्कॉलरशिप

इंग्लैंड के विख्यात कवि जॉन ड्राइडन ने कहा था- कोई और नहीं, केवल बहादुर ही बेहतर का पात्र है। ड्राइडन की यह बात बिहार के दलित समुदाय से ताल्लुक रखने वाले 17 वर्षीय मेधावी किशोर प्रेम कुमार पर लागू होती है।

दिहाड़ी मजदूर का यह बेटा अब अमेरिका के लाफायेट कॉलेज में पढ़कर इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल करेगा। पेनसिल्वेनिया, अमेरिका के लाफायेट कॉलेज ने प्रेम को ढाई करोड़ की स्कॉलरशिप दी है। प्रेम 12वीं का छात्र है।