सुपर-फीस देकर भारतीयों को जल्द मिलेंगे ग्रीन कार्ड

अमेरिका सालाना रोजगार-आधारित आवेदकों के लिए केवल 1.40 लाख ग्रीन कार्ड अलग रखता है और इसमें से हर देश पर 7 फीसदी तक ही ग्रीन कार्ड को जारी करने की सीमा भी तय की है।

सुपर-फीस देकर भारतीयों को जल्द मिलेंगे ग्रीन कार्ड
Photo by Trent Yarnell / Unsplash

भारतीय प्रवासी अब ग्रीन कार्ड हासिल कर सकते हैं और अपना वीजा स्थायी कर सकते हैं। इसके लिए उन्हें कुछ अतिरिक्त राशि का भुगतान करना होगा जिसके बाद उन्हें ग्रीन कार्ड मिल जाएगा। जो अतिरिक्त राशि भारतीय प्रवासियों को देनी होगी उसे आमतौर पर सुपर फीस कहा जाता है। इसी तरह एच-1बी धारकों के बच्चे जिनकी उम्र अधिक हो गई है और जो 21 वर्ष के हो गए हैं उन्हें भी स्थायी ​निवास यानी परमानेंट रेजीडेंसी और ना​गरिकता प्राप्त करने का मौका मिलेगा।

Happy
अमेरिका में भारतीयों की भारी संख्या को देखते हुए अधिकांश के पास एच-1बी वीजा है जोकि भारतीयों के सामने कई चुनौतियां खड़ी करता है। Photo by Kunal Goswami / Unsplash

दरअसल हाल ही में अमेरिका की हाउस ज्यूडिशियरी कमेटी ने रेकन्सीलिएशन बिल जारी किया है जिसमें आव्रजन पर अधिकार क्षेत्र की बात कही गई है। हालांकि इस विधेयक में ग्रीन कार्ड के लिए देश की तय की गई सीमा को खत्म करने या एच-1बी वीजा के वार्षिक कोटा को बढ़ाने की बात नहीं कही गई है।