भारतीय वैक्सीन कोविशील्ड को 11 यूरोपीय देशों में मिली अनुमति

स्विट्ज़रलैंड में रहने वाले भारतीयों की संख्या क़रीब 18000 है। इसमें भारतीय मूल के क़रीब 6300 स्वीश पासपोर्ट धारक शामिल हैं। इनमें ज़्यादातर आईटी कंपनी, रेस्तराँ व्यवसाय व तमाम अंतरराष्ट्रीय व्यवसाय से जुड़े हुए हैं।

भारतीय वैक्सीन कोविशील्ड को 11 यूरोपीय देशों में मिली अनुमति

भारत से यूरोप के सफ़र में वैक्सीन की बाधा धीरे -धीरे ही सही लेकिन टूटने लगी है। भले ही 1 जुलाई से ईयू के अंदर सफ़र के लिए वैक्सीन पास/ग्रीन पास ( ईएमए के ज़रिए मंज़ूर की गई वैक्सीन) को अनिवार्य बना दिया गया है। लेकिन कई ऐसे देश भी हैं जिन्होंने भारतीय वैक्सीन को सुरक्षित मानते हुए भारतीय पर्यटकों व पैसेंजरों के लिए अपने दरवाज़े खोल दिये हैं।

फ़िलहाल ग्यारह यूरोपीय देशों ने कोविशील्ड को अपने यहाँ मान्यता दी है। यानी इन देशों में भारत से कोवि़शील्ड वैक्सीन लेकर आने वाले भी बिना किसी बाधा के आवागमन कर सकेंगे। उन्हें वैक्सीन पास या ग्रीन पास लेने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। जिन देशों ने अबतक कोविशील्ड को अपने यहाँ मंज़ूरी दी है, उनमें जर्मनी, ग्रीस, स्लोवेनिया, ऑस्ट्रिया, स्पेन, आयरलैंड, नीदरलैंड्स, स्विट्ज़रलैंड और आइसलैंड शामिल हैं। (स्विट्ज़रलैंड और आइसलैंड ईयू के अंतर्गत नहीं) वहीं इस्टोनिया ने कहा है कि वह भारत से आने वालों के लिए भारतीय मान्यता प्राप्त सभी वैक्सीन को अपने यहाँ मंज़ूरी देगा। जबकि फ़्रांस में भी कोविशील्ड वैक्सीन को जल्द मंज़ूरी मिलने की उम्मीद है।