अमेरिका के पागलखाने में आखिर क्यों कैद है यह भारतीय डॉक्टर?

वर्ष 2016 में एक महिला छात्र का पीछा करने के जुर्म में डॉक्टर तरुण भारद्वाज को गिरफ्तार किया गया था। कार्यवाही के दौरान उन्हें पागल घोषित कर दिया गया। भारत में रह रहे उनके परिजनों का आरोप है कि यह सब साजिशन किया गया है।

अमेरिका के पागलखाने में आखिर क्यों कैद है यह भारतीय डॉक्टर?
Photo by Hasan Almasi / Unsplash

अमेरिकी सरकार पर भारतीयों द्वारा हाल ही में एक गंभीर आरोप लगाया जा रहा है। कहा जा रहा है कि मानसिक रूप से बिल्कुल स्वस्थ, भारतीय मूल के वैज्ञानिक डॉक्टर तरुण भारद्वाज को अमेरिका में एक साजिश के तहत 30 महीने से अधिक समय से एक पागलखाने में डाल रखा है। मूल रूप से भारत के बुलंदशहर निवासी डॉक्टर भारद्वाज परमाणु वैज्ञानिक हैं और अमेरिका में ही काम करते थे। लेकिन अब वह पागलखाने में हैं जहां उन्हें हेवी एंटीबायोटिक और खतरनाक इन्जेक्शन दिए जा रहे हैं।

डॉक्टर तरुण भारद्वाज

हाल ही में भारत की आदर्श सेवा फाउंडेशन ने डॉक्टर आदर्श की रिहाई को लेकर भारत के बुलंदशहर स्थित राजेबाबू पार्क में प्रदर्शन किया। फाउंडेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी चंद्रपाल सिंह ने इसे बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण बताया और भारत सरकार पर भी इस विषय पर कोई कदम न उठाए जाने पर दुख व्यक्त किया। फाउंडेशन के कार्यकर्ताओं ने मांग की है कि अमेरिकी सरकार तरुण भारद्वाज को तत्काल रिहा करके भारत भेजे। कार्यकर्ताओं ने जल्द ही तरुण की रिहाई न होने पर भारत में अमेरिकी दूतावास का घेराव करने की भी चेतावनी दी है।