ये भारतीय पकवान हैं या विदेशी व्यंजन? पहली नजर में बता पाना है असंभव

राजमा से लेकर बिरयानी तक और समोसे से लेकर गुलाब जामुन तक, कई पकवान ऐसे हैं जिन्होंने भारतीयता तो अपना ली है लेकिन उनका जन्म भारत के बाहर हुआ था।

ये भारतीय पकवान हैं या विदेशी व्यंजन? पहली नजर में बता पाना है असंभव
Photo by Sanju M Gurung / Unsplash

किसी भी देश के वासी के लिए अपने पारंपरिक भोजन का स्वाद लेना दुनिया की सबसे संतोषजनक भावनाओं में से एक है। यह न सिर्फ मन को खुशी से भर देता है बल्कि सबसे प्रमाणिक तरीके से देश की जड़ों और इतिहास के करीब भी ले जाता है। भारतीय भोजन इसका एक बहुत अच्छा उदाहरण है। वहां के जायकों में भारत देश की ही तरह इतनी विविधता है कि भारत के इतिहास को जानने के लिए वहां के पकवानों को जानना बहुत जरूरी हो जाता है।

लेकिन एक बहुत ही रोचक तथ्य पर गौर करें तो पता चलता है कि भारत में सबसे अधिक खाए जाने वाले पकवान या भोजन वास्तव में भारतीय हैं ही नहीं। क्या आप जानते हैं कि इसका कारण क्या है? चूंकि भारतीय उपमहाद्वीप पर अक्सर आसपास के देशों के हमले होते रहते थे इसलिए विदेशी व्यंजन यहां आकर बस गए। अब वे भारत की परंपराओं में इतनी गहरी जड़ें जमा चुके हैं कि दूसरों को भी लगता है कि यह पकवान भारतीय हैं। आइए देखते हैं भारतीय जायकों में लिपटे यह विदेशी पकवान आखिर हैं कौन से।