भारतीय मूल के कसाई ने लंबी कोशिशों के बाद जीत ली सॉसेज प्रतियोगिता

विकास बाचू अफ्रीका में इस चैंपियनशिप को हासिल करने वाले दूसरे भारतीय बन चुके हैं। इससे पहले साल 2007 में जेफरी सोब्रामोनी ने चैंपियनशिप को जीता था।

भारतीय मूल के कसाई ने लंबी कोशिशों के बाद जीत ली सॉसेज प्रतियोगिता
Photo by Harry Cunningham / Unsplash

साउथ अफ्रीका में रहने वाले भारतीय मूल के विकास बाचू ने लगातार 12 साल तक प्रयास करने के बाद अफ्रीका के बोअरवर्स चैंपियनशिप को जीता है। बोअरवर्स एक अफ्रीकी शब्द है जिसका अर्थ है "किसान का सॉसेज", अफ्रीका में कहा जाता है कि किसान का सॉसेज एक मोटी सॉसेज है जिसे लगभग 200 साल पहले पहली बार बनाया गया था तभी से साउथ अफ्रीका ने इसे पसंदीदा भोजन के रूप में अपना लिया।

चार बच्चों के पिता विकास बाचू 38 साल के हैं और अफ्रीका में इस चैंपियनशिप को हासिल करने वाले दूसरे भारतीय बन चुके हैं। Photo : Facebook/vikash.bachu1

चार बच्चों के पिता विकास बाचू 38 साल के हैं और अफ्रीका में इस चैंपियनशिप को हासिल करने वाले दूसरे भारतीय बन चुके हैं। इससे पहले साल 2007 में जेफरी सोब्रामोनी ने चैंपियनशिप को जीता था। विकास बाचू को यह खिताब जीतने पर नई टोयोटा फॉर्च्यूनर 2.4 GD-6 4X2 6AT दी गई है। इतना ही नहीं बाचू की रेसिपी को अफ्रीका के शॉपराइट एंड चैकर्स ग्रुप के 2,300 से अधिक सुपरमार्केट स्टोर पर भी बिक्री के लिए उपलब्ध कराया जाएगा।