भारतीय वैज्ञानिकों का जवाब नहीं, अंटार्कटिका में नई काई खोजी, नाम रखा भारतीन्सिस

इस खोज के पीछे एक बड़ी वजह धरती के बढ़ता तापमान को बताया जा रहा है। अंटार्कटिका में कुछ समय से काफी अधिक बर्फ पिघलने लगी है। ऐसा लाखों साल में पहली बार देखने को मिला है। बर्फ पिघलने की वजह से हर रंग की परत अब यहां कुछ कुछ जगह दिखाई देती है।

भारतीय वैज्ञानिकों का जवाब नहीं, अंटार्कटिका में नई काई खोजी, नाम रखा भारतीन्सिस
पंजाब सेंट्रल यूनिवर्सिटी के जीव वैज्ञानिकों ने काई की एक नई प्रजाति की खोज की है। Photo by Torsten Dederichs / Unsplash

अंटार्कटिका में पंजाब सेंट्रल यूनिवर्सिटी के जीव वैज्ञानिकों ने काई की एक नई प्रजाति की खोज की है। इसका नाम उन्होंने ब्रायम भारतीन्सिस रखा है। अंटार्कटिका के निर्जन इलाके में मौजूद भारतीय अनुसंधान केंद्र ने इसको यह नाम दिया है। यह नाम हिंदू देवी भारती के नाम पर रखा गया है, जिन्हें सीखने की देवी भी कहा जाता है।

इस प्रजाति की सबसे पहले खोज डॉ. फेलिक्स बास्ट ने अनुसंधान केंद्र के नजदीक चट्टानों पर की। फेलिक्स ध्रुवीय और समुद्री जीव वैज्ञानिक हैं जो पंजाब की सेंट्रल यूनिवर्सिटी में डिपार्टमेंट ऑफ बॉटनी के प्रमुख हैं। फेलिक्स भारती के अंटार्कटिका अभियान 2016-17 का हिस्सा थे।

धरती के बढ़ते तापमान की वजह से अंटार्कटिका में काफी अधिक बर्फ पिघलने लगी है। Photo by Torsten Dederichs / Unsplash