भारतीय छात्रा काव्या जैन ने ब्रिटेन में दृष्टिबाधित लोगों के लिए बनाया अनोखा 'टेप'

अपने करीबी लोगों के सामने हर दिन आने वाली परेशानियों को देखते हुए उन्होंने यह रिसर्च करने का फैसला किया। फेसबुक ग्रुप के माध्यम से कई लोगों से बात करने के बाद यह प्रोजेक्ट शुरू किया।

भारतीय छात्रा काव्या जैन ने ब्रिटेन में दृष्टिबाधित लोगों के लिए बनाया अनोखा 'टेप'

यूनाइटेड किंगडम में भारतीय छात्रा काव्या जैन ने दृष्टिबाधित (Visually Impaired) लोगों को बेहतर दिशा बताने में मदद करने के लिए एक अनोखा 'टेक्सचर्ड टेप' तैयार किया है। 21 साल की काव्या नॉटिंघम ट्रेंट यूनिवर्सिटी की छात्रा हैं और उन्होंने यह टेप अपने फाइनल प्रोजेक्ट के रूप में बनाया है। काव्या ने विभिन्न स्पर्श पैटर्न वाले टेपों के साथ ईवी फोम का इस्तेमाल किया है। उन्होंने इस टेप को 'सेन्सी' (Sensei) नाम दिया है।

काव्या ब्रिटेन में अपना पेटेंट आइडिया विकसित कर रही हैं और इस साल के अंत तक प्रोडक्ट को शॉपिंग मॉल, स्टेडियम और अन्य सार्वजनिक स्थानों पर स्थापित करने की योजना है। काव्या ने पुष्टि की कि वह कई संगठनों से बात कर रही हैं लेकिन अभी तक कोई विस्तृत बयान नहीं दिया है। इस पर नीला टेप लगा हुआ है, जो दृष्टिबाधित लोगों को बाथरूम और गोलाकार प्लेट रसोई तक जाने में मदद करेंगी। लोगों को समझने के लिए टेप को फर्श पर या दीवारों पर लगाया जा सकता है। इसको चिपकाना आसान है और आसानी से हाथों या बेंत से पहचाना जाएगा।