कैंसर के खिलाफ लड़ाई में यह भारतीय अमेरिकी प्रोफेसर भी अपना योगदान देगा

अंशुमन सत्पथी का शोध समूह स्वास्थ्य, संक्रमण और कैंसर में बुनियादी प्रतिरक्षा प्रणाली सुविधाओं का अध्ययन करने के लिए जीनोम-स्केल प्रौद्योगिकियों को विकसित करने और लागू करने पर केंद्रित है।

कैंसर के खिलाफ लड़ाई में यह भारतीय अमेरिकी प्रोफेसर भी अपना योगदान देगा

भारतीय-अमेरिकी प्रोफेसर अंशुमन सत्पथी (Ansuman Satpathy) को हाल ही में 'प्यू चैरिटेबल ट्रस्ट' और 'अलेक्जेंडर एंड मार्गरेट स्टीवर्ट ट्रस्ट' ने बड़ा सम्मान दिया है। दोनों ट्रस्ट ने सत्पथी का नाम 'प्यू-स्टीवर्ट स्कॉलर्स प्रोग्राम फॉर कैंसर रिसर्च' के 2021 कैटेगरी में शामिल करने का ऐलान किया है। पिछले आठ सालों से अलेक्जेंडर और मार्गरेट स्टीवर्ट ट्रस्ट ने इस जटिल बीमारी का समाधान खोजने के लिए प्यू के साथ साझेदारी कर इस क्षेत्रों के विशेषज्ञों को सपोर्ट किया है।

प्यू ट्रस्ट के अध्यक्ष और सीईओ सुसान के उरान का कहना है कि, "कैंसर दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य चुनौतियों में से एक है, जिसमें नए दृष्टिकोण और निरंतर अन्वेषण की आवश्यकता है। प्यू को इन होनहार शोधकर्ताओं का समर्थन करने पर गर्व है क्योंकि यह एक इलाज को उजागर करने के लिए नई रणनीति अपनाते हैं।"