भारतीय अमेरिकी होटल कारोबारियों ने नामी होटल ग्रुपों पर ठोका मुकदमा, लगाए ये आरोप

मुकदमे में यह भी दावा किया गया है कि चॉइस और आईएचजी के अधिकारी नियमित रूप से भारतीय-अमेरिकी फ्रेंचाइजी के बारे में नस्लवादी टिप्पणी करते हैं।

भारतीय अमेरिकी होटल कारोबारियों ने नामी होटल ग्रुपों पर ठोका मुकदमा, लगाए ये आरोप
Photo by Adriana Saraceanu / Unsplash

विमल पटेल और कई अन्य भारतीय होटल कारोबारियों ने बीते मई में दक्षिणी न्यू ऑरलियन्स के जिला न्यायालय में होटल बिजनेस चॉइस, होटल्स इंटरनेशनल और इंटरकॉन्टिनेंटल ग्रुप (IHG) जैसे बड़े नामों के खिलाफ मुकदमा दायर किया है। यह कम से कम पांचवां मुकदमा है, जो आईएचजी के खिलाफ दायर किया गया है। मुकदमे में कहा गया है कि ये कंपनियां छोटे होटल मालिकों का शोषण करती हैं और उनसे अधिक शुल्क लेती हैं। दूसरी ओर आईएचजी ने इन आरोपों का खंडन किया है और कहा है कि वह अपने फ्रेंचाइजी की विविधता को महत्व देता है और उनकी जातीयता या राष्ट्रीय मूल के आधार पर निर्णय नहीं लेता है।

#travel(s) #traveltuesday. #travelblog. #travelblogger. #vacation. #holiday. General: #throwbackthursday. #tbt. #waybackwednesday. #workoutwednesday. #tgif. #friday. Hotel: #hotel(s) #besthotel(s) #luxuryhotel. #boutiquehotel. #luxurytraveller. #pool. Instagram
असोसिएशन ऑफ एशियन अमेरिकन होटल ऑनर्स (AAHOA) के अनुसार, "पश्चिमी भारतीय राज्य गुजरात के उद्यमियों (विशेषकर पटेल उपनाम वाले) ने अमेरिकी होटल उद्योग को बढ़ावा दिया है। Photo by Anmol Seth / Unsplash

मुकदमे में यह भी दावा किया गया है कि चॉइस और आईएचजी के अधिकारी नियमित रूप से भारतीय-अमेरिकी फ्रेंचाइजी के बारे में नस्लवादी टिप्पणी करते हैं। इसके अलावा दोनों कंपनियां भारतीय अमेरिकियों के लिए कड़े मानकों को लागू कर रही हैं। असोसिएशन ऑफ एशियन अमेरिकन होटल ऑनर्स (AAHOA) के अनुसार, "पश्चिमी भारतीय राज्य गुजरात के उद्यमियों (विशेषकर पटेल उपनाम वाले) ने अमेरिकी होटल उद्योग को बढ़ावा दिया है। आहोआ के 20,000 सदस्य हैं, जिनमें से लगभग सभी भारतीय हैं। ये अमेरिका के कुल घरेलू होटलों के आधे से ज्यादा होटलों के मालिक हैं।"