सेवा इंटरनेशनल ने भारत की मदद के लिए 30 मिलियन डॉलर जुटाए

जब दूसरी लहर पूरे भारत में फैल गई थी, तब सेवा इंटरनेशनल ने मेडिकल उपकरण, दवाईयां, कपड़े और अन्य जरूरी सामान भारत भेजे।

सेवा इंटरनेशनल ने भारत की मदद के लिए 30 मिलियन डॉलर जुटाए
एनादर जॉय फाउंडेशन के अधिकारियों के साथ सैन बर्नार्डिनो हवाई अड्डे पर सेवा इंटरनेशनल के सदस्य 

भारतीय-अमेरिकी एनजीओ सेवा इंटरनेशनल ने भारत में कोरोना महामारी से जुड़ी राहत सामग्री पहुंचाने के लिए 30 मिलियन अमेरिकी डॉलर (करीब 223 करोड़ रुपये) से अधिक राशि जुटाई है। सेवा इंटरनेशनल ने मेडिकल सुविधाएं एयरलिफ्ट के जरिये पहुंचाई।

सेवा इंटरनेशनल के मार्केटिंग एंड फंड डेवलपमेंट के वाइस प्रेजिडेंट संदीप खडकेकर ने कहा, "यह मेरे लिए बड़े सौभाग्य की बात है कि मैं उस वक्त सैन बर्नार्डिनो एयरपोर्ट पर सेवा इंटरनेशनल के एक प्रतिनिधि के तौर पर मौजूद था, जब एयरलिफ्ट करते हुए ऑक्सीजन कंसंट्रेटर भारत के लिए पहुंचाए गए।"

यह गुजरात की डॉक्टर जैस्मिन पटेल हैं, जो आक्सीजन कंसंट्रेटर के लिए फेसबुक पर वीडियो के माध्यम से सेवा इंटरनेशनल का ​शु​क्रिया कर रही थीं। (फोटो : सेवा इंटरनेशनल यूएसए का फेसबुक पेज)

उन्होंने यह भी जानकारी दी कि सेवा इंटरनेशनल ने इस महामारी के वक्त भारत की मदद के लिए एनादर जॉय फाउंडेशन के साथ हाथ मिलाया, ताकि एयरलिफ्ट करते हुए भारत में मेडिकल उपकरण, दवाईयां, कपड़े और अन्य जरूरी सामानों की आपूर्ति समय पर की जा सके। एनादर जॉय फाउंडेशन दुनिया भर के कई देशों को इस वक्त मदद कर रही है और इसके लिए सेवा इंटरनेशनल एनादर जॉय फाउंडेशन के फाउंडर एल्डन क्रॉली की सराहना करती है।

खडकेकर ने कहा, "पिछले दो महीने में जब दूसरी लहर पूरे भारत में फैल गई थी, तब सेवा इंटरनेशनल ने इस जरूरी मदद को भारत में पहुंचाया।”