श्रुति रंगनाथन

श्रुति रंगनाथन

Shruthi Ranganathan is an artist and an avid reader. She likes to learn new languages and is completing her bachelor's degree in journalism and mass communication.

बहुत खूब: भारतीय मूल के 100 परोपकारी लोगों में सबसे अधिक अमेरिका के
News

बहुत खूब: भारतीय मूल के 100 परोपकारी लोगों में सबसे अधिक अमेरिका के

खास बात यह है कि इन सूची में शामिल 30 प्रतिशत से ज्यादा लोग संयुक्त राज्य अमेरिका में रहते हैं। इसके बाद 25 प्रतिशत लोग भारत के हैं। कई अन्य देशों के प्रवासियों ने भी इस लिस्ट में जगह बनाई है।

भारत के अलावा इन देशों में भी 15 अगस्त को मनाया जाता है 'स्वतंत्रता दिवस!'
News

भारत के अलावा इन देशों में भी 15 अगस्त को मनाया जाता है 'स्वतंत्रता दिवस!'

15 अगस्त को ही अमेरिकी सहयोगी बलों ने जापान को निर्णायक रूप से हरा दिया और इस प्रकार द्वितीय विश्व युद्ध खत्म हुआ। इस दिन उत्तर और दक्षिण कोरिया, कांगो और बहरीन आजाद हुए थे।

अल्ताफ बोले- पाक में हिंदुओं का जबरन धर्मांतरण कराने वाले इंसानियत के दुश्मन
News

अल्ताफ बोले- पाक में हिंदुओं का जबरन धर्मांतरण कराने वाले इंसानियत के दुश्मन

एक अनुमान के मुताबिक पाकिस्तान में हर साल 1000 अल्पसंख्यक युवतियों का जबरन धर्म परिवर्तन करा दिया जाता है। पाकिस्तान में ऐसी घटनाओं की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है।

अमेरिका की जूडिथ राविन ने केरल की सांस्कृतिक विरासत व सहिष्णुता को मजबूत बताया
News

अमेरिका की जूडिथ राविन ने केरल की सांस्कृतिक विरासत व सहिष्णुता को मजबूत बताया

कॉन्सुल ने इस वर्चुअल दौरे पर महिला और युवाओं के साथ महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा की। साथ ही केरल और यूएसए के रिश्तों को बढ़ावा देने पर जोर दिया।

कैरेबिया के भारतीयों को कम न समझें, कोरोना व व्यापार पर कर रहे हैं चिंतन-मनन
News

कैरेबिया के भारतीयों को कम न समझें, कोरोना व व्यापार पर कर रहे हैं चिंतन-मनन

पिछले रविवार को दुनिया के विभिन्न हिस्सों से वक्ताओं ने इसमें हिस्सा लिया और कोरोना महामारी के कारण प्रवासियों के बिजनेस पर हुए असर को लेकर चर्चा की। इस दौरान कई जरूरी तथ्यों का भी हवाला दिया गया।

भारतीय वैज्ञानिकों का जवाब नहीं, अंटार्कटिका में नई काई खोजी, नाम रखा भारतीन्सिस
News

भारतीय वैज्ञानिकों का जवाब नहीं, अंटार्कटिका में नई काई खोजी, नाम रखा भारतीन्सिस

इस खोज के पीछे एक बड़ी वजह धरती के बढ़ता तापमान को बताया जा रहा है। अंटार्कटिका में कुछ समय से काफी अधिक बर्फ पिघलने लगी है। ऐसा लाखों साल में पहली बार देखने को मिला है। बर्फ पिघलने की वजह से हर रंग की परत अब यहां कुछ कुछ जगह दिखाई देती है।