इन वीजा धारकों को स्थायी निवास के लिए नियमों में संशोधन करेगा ऑस्ट्रेलिया

मेलबर्न स्थित प्रवासन और शिक्षा विशेषज्ञ चमन प्रीत ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया में सैकड़ों अस्थायी निवासियों के लिए यह एक स्वागत योग्य घोषणा है। यह उन लोगों के लिए वास्तव में एक आशाजनक खबर है, जिन्होंने विशेष रूप से कोरोना महामारी के दौरान ऑस्ट्रेलियाई व्यवसायों को बचाए रखने के लिए बहुत प्रयास किया है।

इन वीजा धारकों को स्थायी निवास के लिए नियमों में संशोधन करेगा ऑस्ट्रेलिया

ऑस्ट्रेलियाई सरकार 457 वीजा (कैटिगरी) धारकों को स्थायी निवास का रास्ता खोलने के लिए प्रवासन अधिनियम में संशोधन करेगी। प्रस्तावित संशोधन के अनुसार कोई भी व्यक्ति जिसके पास 17 अप्रैल 2017 के बाद 457 वीजा है उसको इस प्रोग्राम में शामिल किया जएगा। संशोधन के मुताबिक ऐसा शख्स जो 1 फरवरी 2020 और 14 दिसंबर 2021 के बीच 12 महीने के लिए ऑस्ट्रेलिया में था, वह 186 नई अस्थायी वीजा व्यवस्था के लिए आवेदन कर सकेगा। इसमें आवेदक के व्यवसाय और उम्र को नहीं देखा जाएगा।

ऑस्ट्रेलिया में सैकड़ों अस्थायी निवासियों के लिए यह एक स्वागत योग्य घोषणा है। 

अस्थायी कार्य (कुशल) वीजा (उपवर्ग 457) एक अस्थायी वीजा है जो कुशल श्रमिकों को ऑस्ट्रेलिया आने और कुछ व्यवसाय में चार साल तक काम करने की अनुमति देता है। मेलबर्न स्थित प्रवासन और शिक्षा विशेषज्ञ चमन प्रीत कहती हैं कि ऑस्ट्रेलिया में सैकड़ों अस्थायी निवासियों के लिए यह एक स्वागत योग्य घोषणा है।

उन्होंने कहा कि यह उन लोगों के लिए वास्तव में एक आशाजनक खबर है, जिन्होंने विशेष रूप से कोरोना महामारी के दौरान ऑस्ट्रेलियाई व्यवसायों को बचाए रखने के लिए बहुत प्रयास किया है। आयु सीमा हटाना और भी अधिक आश्वस्त करने वाला है। इस घोषणा ने कई संभावित कुशल श्रमिकों में आशा का संचार किया है।

ताजा उपलब्ध आंकड़ों के मुताबिक दिसंबर 2021 में एक लाख 96 हजार लोगों ने ऑस्ट्रेलिया में प्रवेश किया। इनमें से सबसे ज्यादा लोग सिंगापुर (3,170) से आए। दूसरे नंबर पर यूके (2,790) और तीसरे नंबर पर भारत (2,310) था। इन आंकड़ों की तुलना अगर कोविड के पहले के हालात से की जाए तो पर्यटन से लेकर ऑस्ट्रेलिया का स्थायी वीजा और नागरिकता लेने वालों में भारतीयों की संख्या हाल के सालों में लगातार सबसे ऊपर रही है।

गौरतलब है कि 18 अप्रैल 2017 को ऑस्ट्रेलिया के तत्कालीन प्रधानमंत्री मैल्कॉम टर्नबुल ने विदेशी कामगारों के लिए वीजा 457 रद्द कर दिया था। टर्नबुल ने कहा था कि वीजा 457 कार्यक्रम के तहत विदेशों से सस्ते कामगार ऑस्ट्रेलिया आ रहे थे। इससे ऑस्ट्रेलियाई युवाओं को रोजगार मिलने में परेशानी हो रही थी। उन्होंने कहा था कि हम 457 वीजा को वैसी नौकरियां लेने का पासपोर्ट नहीं बना सकते जो ऑस्ट्रेलियाइयों को मिलनी चाहिए। तब कुशल कामगारों के लिए नया 482 वीजा पेश किया गया था।