अपनी एक्टिंग से किरदार में जान डाल देती थीं सुरेखा सीकरी

30 से अधिक फिल्मों और 15 धारावाहिकों में अपनी अभिनय प्रतिभा का लोहा मनवाने वाली दिग्गज अभिनेत्री सुरेखा सीकरी का निधन हो गया।

अपनी एक्टिंग से किरदार में जान डाल देती थीं सुरेखा सीकरी
सुरेखा सीकरी (साभार: Twitter/@RandeepHooda)

दिग्गज अभिनेत्री सुरेखा सीकरी अपनी लाजवाब एक्टिंग से किरदार में जान डाल देती थीं। बहुमुखी भूमिका निभाने के लिए जानी जाने वाली राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता अभिनेत्री 30 से अधिक फिल्मों और 15 धारावाहिकों में अपनी अभिनय प्रतिभा का लोहा मनवाया था। अनुभवी अभिनेत्री का करियर थिएटर, फिल्मों और टेलीविजन तक फैला था। उन्होंने एक मलयालम फिल्म में भी स्क्रीन पर अपनी उपस्थिति दर्ज कराई।

टीवी सीरियल बालिका वधू की एक तस्वीर। (साभार: Instagram/@avikagor)

सुरेखा सीकरी का 16 जुलाई को मुंबई में दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। 75 साल की बुजुर्ग अभिनेत्री लंबे समय से बीमार चल रही थीं। उन्हें पिछले साल सितंबर में ब्रेन स्ट्रोक हुआ था और कुछ दिनों के बाद उन्हें छुट्टी दे दी गई थी।

सुरेखा का जन्म उत्तर प्रदेश में हुआ था। उन्होंने 1971 में राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय (एनएसडी) से स्नातक डिप्लोमा की उपाधि प्राप्त की और मुंबई शिफ्ट होने से पहले एक दशक से अधिक समय तक एनएसडी रिपर्टरी के साथ काम किया।

सीकरी को हिंदी थिएटर में उनके योगदान के लिए 1989 के संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार से भी नवाजा गया था।

"उनके जैसा कोई नहीं है।'' दीया मिर्जा ने यह लिखते हुए उनकी एक तस्वीर इंस्टाग्राम पर पोस्ट की। 

दिग्गज अभिनेत्री ने अपना फिल्मी सफर 1978 में राजनीतिक ड्रामा फिल्म 'किस्सा कुर्सी का' के साथ शुरू किया। उन्होंने अपने करियर में तीन बार राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कार और एक बार फ़िल्म फेयर पुरस्कार हासिल किया।