क्या भारतीय दौरे में अमेरिकी विदेश मंत्री पेगासस जासूसी पर भी बात करेंगे?

इस वक्त भारत सरकार पर पेगासस स्पाइवेयर के जरिए कई राजनीतिक नेताओं और पत्रकारों की जासूसी के आरोप लग रहे है। हालांकि सरकार ने इस आरोपों को सिरे से खारिज किया है।

क्या भारतीय दौरे में अमेरिकी विदेश मंत्री पेगासस जासूसी पर भी बात करेंगे?
भारत के विदेश मंत्री, डॉ. एस. जयशंकर 

पेगासस स्पाइवेयर के मुद्दे पर दुनियाभर में मीडिया रिपोर्ट्स के बाद अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने कहा कि वह एक रचनात्मक तरीके से भारत की दो दिवसीय यात्रा के दौरान मानवाधिकारों और लोकतंत्र पर चर्चा करेंगे। लेकिन हाल ही में एक कॉन्फ्रेंस कॉल के दौरान अमेरिका में कार्यवाहक दक्षिण और मध्य एशिया के असिस्टेंट सेक्रेटरी डीन थॉम्पसन ने कहा, "मैं आपको बता दूं कि हम इस मुद्दे (पेगासस स्पाइवेयर) को उठाएंगे और हम उस वार्तालाप को जारी रखेंगे। क्योंकि हम मानते हैं कि हम तमाम मुद्दों पर समान राय रखते हैं। "

भारतीय सरकार के पेगासस के इस्तेमाल के संबंध में थॉम्पसन ने कहा कि अमेरिका समाज, पत्रकारों या अन्य किसी के खिलाफ स्पाइवेयर के इस्तेमाल के विचार को लेकर चिंतित है। उन्होंने यह भी कहा कि इस मुद्दे पर अमेरिका की कोई विशेष अंतर्दृष्टि नहीं है, लेकिन वे ऐसी टेक्नोलॉजी बेचने वाली कंपनियों को लेकर काफी मुखर हैं।