अमेरिकी विदेश मंत्री ब्लिंकन आए भारत, लोकतंत्र को सराहा

अमेरिकी विदेश मंत्री ने कहा कि साल 2006 में जो बाइडेन एक सीनेटर के तौर पर भारत आये थे। तब उन्होंने कहा था कि उनका सपना है कि साल 2020 तक भारत और अमेरिका के संबंध सबसे मजबूत होंगे।

अमेरिकी विदेश मंत्री ब्लिंकन आए भारत, लोकतंत्र को सराहा
अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन और भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए। 

विदेश मंत्री एस जयशंकर और अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने बुधवार को विभिन्न विषयों पर व्यापक वार्ता की। बातचीत के एजेंडे में अफगानिस्तान में तेजी से बदल रहे सुरक्षा परिदृश्य, हिंद-प्रशांत क्षेत्र में भागीदारी बढ़ाने और कोविड-19 से निपटने के प्रयासों में सहयोग समेत अन्य विषय शामिल रहे। इस वार्ता में अमेरिका और भारत के साझा हितों पर भी विचार-विमर्श किया गया। अमेरिकी विदेश मंत्री का कहना था कि हम भारत को यहां के लोगों की लोकतांत्रिक मूल्यों के प्रति समर्पण, मानवाधिकार, बहुलतावादी समाज को लेकर देखते और जानते हैं।

अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन अपने भारतीय समकक्ष एस जयशंकर को भारतीय परंपरा के अनुसार हाथ जोड़कर नमस्ते करते हुए।