मस्ती के लिए भारत से चलकर अमेरिका पहुंची 'वायग्रा', अवैध थी इसलिए जब्त कर ली गईं

अमेरिका में निर्धारित दवाओं को आयात करने के लिए अधिकारियों से मंजूरी लेनी होती है। सीबीपी लोगों को सलाह देता है कि वे अपने डॉक्टर की सलाह के बाद ही दवाएं खरीदें।

मस्ती के लिए भारत से चलकर अमेरिका पहुंची 'वायग्रा', अवैध थी इसलिए जब्त कर ली गईं
Photo by Paul Weaver / Unsplash

अमेरिकी सीमा शुल्क और सीमा सुरक्षा (CBP) के अधिकारियों ने जॉर्जिया के डेकाटुर में एक अपार्टमेंट से सिल्डेनाफिल साइट्रेट की 20 किलो (करीब 23,610) गोलियां जब्त की हैं। इस गोली में वायग्रा के संघटक होते हैं। गोलियों की पैकेजिंग से पता चला कि ये मेक इन इंडिया हैं। अफसरों के मुताबिक ये अवैध रूप से आयातित की गई हैं। अगर शिपमेंट को वैध रूप से आयात किया गया होता, तो इसकी खुदरा कीमत 712,756 डॉलर (करीब 5.30 करोड़ रुपये) होती।

फील्ड ऑपरेशंस-शिकागो फील्ड ऑफिस के निदेशक, लाफोंडा सटन-बर्क ने कहा, "अज्ञात अवयवों के साथ नागरिकों को घटिया उत्पादों से बचाना हमारे अधिकारियों और विशेषज्ञों की प्राथमिकता है।" सीबीपी को अन्य सरकारी एजेंसियों के लिए सैकड़ों कानून लागू करने का काम सौंपा गया है और अमेरिकी लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए हमारी अंतर-एजेंसी भागीदारी महत्वपूर्ण है।"