यहां भी नहीं छोड़ा: बुजुर्गों से धोखाधड़ी में 28 वर्षीय भारतीय नागरिक गिरफ्तार

आरोप है कि आशीष बजाज और उसके अन्य साथियों ने संयुक्त राज्य में स्थित बैंकों के कर्मचारी होने का नाटक किया और बुजर्गों को निशाना बनाया। आरोपियों ने करोड़ों की धोखाधड़ी की।

यहां भी नहीं छोड़ा: बुजुर्गों से धोखाधड़ी में 28 वर्षीय भारतीय नागरिक गिरफ्तार
Photo by Bermix Studio / Unsplash

अमेरिकी बैंकों का प्रतिनिधि बनकर बुजुर्गों से 2.3 मिलियन डॉलर (करीब 17 करोड़ रुपये) की धोखाधड़ी करने वाले भारतीय नागरिक को गिरफ्तार कर लिया गया। कार्यवाहक अमेरिकी अटॉर्नी राचेल ए होनिग ने मंगलवार यह जानकारी दी। पकड़े गए 28 वर्षीय आशीष बजाज पर वायर फ्रॉड करने की साजिश रचने का आरोप लगा है।  वह अमेरिकी मजिस्ट्रेट न्यायाधीश जो एल वेबस्टर के सामने संघीय अदालत में पेश हुआ और उसे हिरासत में ले लिया गया। ऐसी सूचनाएं भी लगातार आ रही हैं कि भारत में भी बैठे लोग ऑनलाइन ठगी से अमेरिकियों को मोटा चूना लगा रहे हैं।

आरोप लगाया गया है कि आरोपित युवक और कई अन्य लोगों ने बैंक धोखाधड़ी रोकथाम कर्मचारी का नाटक कर बुजुर्ग लोगों को धोखा दिया। Photo by LOGAN WEAVER / Unsplash

कार्यवाहक अमेरिकी अटॉर्नी होनिग ने कहा, “जैसा कि शिकायत में आरोप लगाया गया है कि आरोपित युवक और कई अन्य लोगों ने बैंक धोखाधड़ी रोकथाम कर्मचारी का नाटक कर बुजुर्ग लोगों को धोखा दिया। वास्तव में आशीष और उसके सह-साजिशकर्ता धोखेबाज थे। होनिग ने कहा, "धोखाधड़ी का पता लगाना और इसे रोकना कार्यालय के लिए प्राथमिकता बनी हुई है, चाहें ऐसे लोग संयुक्त राज्य में रहते हों या विदेशों में स्थित कॉल सेंटर से बाहर काम करते हों। अपने कानून प्रवर्तन भागीदारों के साथ, हम उन्हें ट्रैक करेंगे और उन्हें न्याय के कटघरे में लाएंगे।”