अलका मित्तल बनीं ONGC की अंतरिम अध्यक्ष, यह पद पाने वाली पहली महिला

मित्तल की नियुक्ति ऐसे समय में हुई है जब ओएनजीसी पर प्रमुख उत्पादन क्षेत्रों में निजी भागीदारों को शामिल कर इनका मुद्रीकरण करने का दबाव है। विभाग के आदेश के अनुसार अलका मित्तल एक जनवरी 2022 से छह महीने की अवधि या अगले आदेश तक ओएनजीसी की अंतरिम अध्यक्ष बनी रहेंगी।

अलका मित्तल बनीं ONGC की अंतरिम अध्यक्ष, यह पद पाने वाली पहली महिला

सार्वजनिक क्षेत्र की तेल और प्राकृतिक गैस निगम (ONGC) ने अलका मित्तल को कंपनी का अंतरिम अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक नियुक्त किया है। ओएनजीसी देश की सबसे बड़ी तेल और गैस उत्पादक कंपनी है और अलका मित्तल इसकी कमान संभालने वाली पहली महिला हैं। वैसे वह निशी वासुदेव के बाद देश में दूसरी ऐसी महिला हैं जो भारत में किसी तेल कंपनी का नेतृत्व कर रही हैं।

इससे पहले यह जिम्मेदारी सुभाष कुमार संभाल रहे थे जो 31 दिसंबर को सेवानिवृत्त हो गए हैं। कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग (डीओपीटी) ने तीन जनवरी को जारी एक आदेश में कहा, 'मंत्रिमंडल की नियुक्ति समिति (ACC) ने पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक के पद का अतिरिक्त प्रभार अलका मित्तल को सौंपने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है।'