ऑस्ट्रेलिया के एक कार्यक्रम में शरीक होना चाहती थीं नाजिया, पुलिस ने एयरपोर्ट पर हिरासत में ले लिया

साल 2017 में उत्तराखंड के भाजपा विधायक किशोर उपाध्याय की भाभी नाजिया इजुद्दीन के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया गया था। पुलिस का कहना है कि नाजिया युसूफ इजुद्दीन फरार थीं जबकि उनका पति सचिन उपाध्याय गिरफ्तार है।

ऑस्ट्रेलिया के एक कार्यक्रम में शरीक होना चाहती थीं नाजिया, पुलिस ने एयरपोर्ट पर हिरासत में ले लिया

ऑस्ट्रेलिया में 31 मई से शुरू होने वाले ऑस्ट्रेलिया इंडिया यूथ डायलॉग (AIYD) में शामिल होने के लिए भारत स्थित केरल के अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पहुंची वकील और भाजपा नेता की रिश्तेदार नाजिया यूसुफ इजुद्दीन को केरल की पुलिस ने हिरासत में ​लिया है। पुलिस के मुताबिक वह 2017 से फरार हैं जबकि AIYD ने उन्हें आमंत्रित किया हुआ है।

AIYD ने नाजिया युसूफ इजुद्दीन को 31 मई से 3 जून तक सिडनी और मेलबर्न में होने वाले 2022 सम्मेलन में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया था और वह 4 जून से 6 जून तक मेलबर्न में होने वाले इमर्जिंग लीडर्स रिट्रीट में भी शामिल होने वाली थीं। इजुद्दीन को देहरादून में एक जमीन की धोखाधड़ी के मामले में उनकी कथित संलिप्तता के कारण केरल के कोच्चि अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर हिरासत में लिया गया। केरल उच्च न्यायालय ने इजुद्दीन को सशर्त जमानत भी दे दी है।

AIYD वेबसाइट के अनुसार नाजिया केरल की रहने वाली एक वकील, लेखक, सामाजिक उद्यमी, रेस्टोररेटर, राजनीतिक टिप्पणीकार और संचार विशेषज्ञ हैं और अब दिल्ली और देहरादून में रहती हैं।

साल 2017 में उत्तराखंड के भाजपा विधायक किशोर उपाध्याय की भाभी नाजिया इजुद्दीन के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया गया था। बता दें कि अधिकारियों ने कानून प्रवर्तन एजेंसियों द्वारा फरार या वांछित व्यक्तियों के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया था। यह नोटिस इस बात को सुनिश्चित करने के लिए जारी किया जाता है कि व्यक्ति देश नहीं छोड़ सके। इसलिए यह ज्यादातर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डों और बंदरगाहों पर आप्रवासन अधिकारियों द्वारा आप्रवासन चौकियों पर उपयोग किया जाता है।

पुलिस का कहना है कि नाजिया युसूफ इजुद्दीन फरार थीं, जबकि उनका पति सचिन उपाध्याय गिरफ्तार है। अधिकारियों ने इजुद्दीन की जानकारी देने वाले को 1,000 रुपये के पुरस्कार की भी घोषणा की थी। भारतीय समाचार वेबसाइट अविकल उत्तराखंड द्वारा प्रकाशित पत्र के अनुसार AIYD संचालन समिति के अध्यक्ष मनुराज शुनमुगसुंदरम ने भारत में ऑस्ट्रेलिया उच्चायोग के वीजा अधिकारी को पत्र लिखकर इजुद्दीन के लिए 5 अप्रैल को वीजा का अनुरोध किया था।

AIYD वेबसाइट के अनुसार नाजिया केरल की रहने वाली एक वकील, लेखक, सामाजिक उद्यमी, रेस्टोररेटर, राजनीतिक टिप्पणीकार और संचार विशेषज्ञ हैं और अब दिल्ली और देहरादून में रहती हैं। वह हार्वर्ड लॉ स्कूल से कानून में स्नातक, कनाडा वर्ल्ड यूथ स्कॉलर और अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी से गोल्ड मेडलिस्ट हैं। वह अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के साहित्य क्लब के सचिव के रूप में नियुक्त होने वाली पहली महिला हैं। भारत आने से पहले नाजिया न्यूयॉर्क, दुबई और लंदन में एक कॉर्पोरेट वकील के रूप में काम कर चुकी हैं। साल 2008 में देहरादून में एक उद्यमी के रूप में बस गई थीं। AIYD का कहना है कि आयोजकों को इजुद्दीन के बारे में कानूनी स्थिति की जानकारी नहीं थी।