Skip to content

भारत, चीन और कुवैत के लिए जल्द उड़ान भरेगी अफगान की एयरलाइन

अफगानिस्तान चैंबर ऑफ एग्रीकल्चर एंड लाइवस्टॉक (ACAL) का कहना है कि काबुल और दिल्ली के बीच उड़ानों के फिर से शुरू होने से हमारा निर्यात बढ़ेगा। इस समय यहां अंगूर, अनार, खुबानी और औषधीय पौधों का सीजन है हम उम्मीद कर रहे हैं।

अफगानिस्तान की एरियाना अफगान एयरलाइंस ने एलान किया है कि वह जल्द ही भारत, चीन और कुवैत के लिए उड़ानों के संचालन की फिर से शुरू करेगी। एयरलाइन के प्रमुख रहमतुल्लाह आघा ने कहा कि भारत के लिए जल्द की उड़ानें शुरू की जाएंगी। वहां हमारे कई यात्री इलाज के लिए गए हुए हैं। चीन और कुवैत के लिए भी उड़ानें जल्द शुरू हो जाएंगी।

यह एयरलाइन वर्तमान में दोहा के लिए एक सप्ताह में दो उड़ानों का संचालन कर रही है। इस बात की जानकारी नहीं मिली है कि इन तीन नए मार्गों के लिए टिकट की कीमत कितनी होगी। भारत अफगानिस्तान के कृषि और बागवानी उत्पादों के लिए सबसे बड़े बाजारों में से एक है। अफगानिस्तान चैंबर ऑफ एग्रीकल्चर एंड लाइवस्टॉक (ACAL) का कहना है कि काबुल और दिल्ली के बीच उड़ानों के फिर से शुरू होने से हमारा निर्यात बढ़ेगा।

एसीएल के सदस्य मीरवाइस हाजीजादा ने कहा कि हमारे कृषि क्षेत्र के लिए भारतीय बाजार हमारे लिए एक अच्छे अवसर की तरह है। इस समय यहां अंगूर, अनार, खुबानी और औषधीय पौधों का सीजन है हम उम्मीद कर रहे हैं कि एयर कॉरिडोर के जरिए अन्य देशों को हमारे निर्यात में इजाफा होगा। कार्यवाहक विदेश मंत्री आमिर खान मुत्तकी भी देश की आर्थिक वृद्धि को लेकर आशावादी हैं।

उन्होंने कहा कि अब अफगानिस्तान ट्रांजिट और इकनॉमिक सेंटर बन रहा है। रोजाना ट्रांजिट में अफगानिस्तान के जरिए हजारों वाहन गुजर रहे हैं। बता दें कि पिछले साल अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जा होने के बाद एरियाना अफगान एयरलाइन ने पिछले महीने घरेलू उड़ानों की शुरुआत की थी।

Latest