कोरोना के चलते एशिया-प्रशांत देशों में कम पैसा भेज पाएंगे प्रवासी: एडीबी

एशियाई विकास बैंक (ADB) ने कहा कि पिछले साल इस क्षेत्र में प्रवाह 314 अरब डॉलर तक पहुंच गया था। बैंक के अनुसार साल 2021 और साल 2022 में वैश्विक प्रेषण (Global Remittances) में एशिया-प्रशांत क्षेत्र की हिस्सेदारी लगभग 63.4 फीसदी रही है।

कोरोना के चलते एशिया-प्रशांत देशों में कम पैसा भेज पाएंगे प्रवासी: एडीबी
Photo by Alistair MacRobert / Unsplash

एशियाई विकास बैंक (ADB) ने कहा है कि विदेशों में काम कर रहे एशिया-प्रशांत क्षेत्र के लोगों की ओर से यहां भेजे जाने वाली राशि (प्रेषण) में इस साल 6.7 फीसदी और अगले साल 5.9 फीसदी का इजाफा हो सकता है। एडीबी ने बताया कि साल 2020 में इस राशि में कोविड-19 महामारी और इसके चलते लगाए गए प्रतिबंधों की वजह से दो फीसदी की कमी दर्ज की गई थी।

अब प्रतिबंधों में राहत के साथ इस आंकड़े में भी तेजी आई है।  एक रिपोर्ट के अनुसार एशिया-प्रशांत क्षेत्र में भेजी जाने वाली इस राशि में इस साल 21.2 अरब डॉलर का इजाफा होने का अनुमान था। वहीं, अगले साल इसमें 19.8 अरब डॉलर की बढ़ोतरी होने का अनुमान है।