बेटी से मिलने भारत से आया पिता अचानक ​बीमार हुआ, मदद की गुहार

सोनी ने अपने पिता के इलाज के लिए आखिर में क्राउडफंडिंग प्लेटफॉर्म GoFundMe पर आम लोगों से अपील की है ताकि उनके पिता के जीवन को बचाने में मदद मिल सके। बेटी सोनी ने बताया कि इलाज के लिए अनुमानित लागत 89,692.50 डॉलर यानी लगभग 70 लाख रुपये है।

बेटी से मिलने भारत से आया पिता अचानक ​बीमार हुआ, मदद की गुहार

ऑस्ट्रेलिया में अपनी बेटी से मिलने आए एक भारतीय बुजुर्ग गंभीर रूप से बीमार पड़ गए। यहां परिवार वालों को उन्हें अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा। उनके परिवार के सदस्यों के अनुसार सर्जरी की लागत उनकी क्षमता से परे है, इसलिए उन्होंने उनकी जान बचाने के लिए एक क्राउडफंडिंग अभियान शुरू किया है।

परिवारजनों के मुताबिक डॉक्टरों ने तुरंत हार्ट सर्जरी के लिए कहा है लेकिन उनके पास चिकित्सा के लिए उतनी रकम नहीं है। परिवार ने बताया कि मरीज लाभ सिंह विदेश से ऑस्ट्रेलिया पहुंचे लेकिन कुछ दिन पहले उनकी तबीयत खराब हो गई। उनकी बेटी सोनी उन्हें विक्टोरिया के जिलॉन्ग में बारवॉन हेल्थ हॉस्पिटल के आपातकालीन विभाग में ले गई जहां उन्हें आईसीयू में भर्ती कराया गया।

Need emergency heart surgery to save my life, organized by Gurmeet Kaur
Hello all beautiful souls , this is Soni , I am fundraising for my dad… Gurmeet Kaur needs your support for Need emergency heart surgery to save my life

मरीज के स्वास्थ्य का आकलन करने के बाद अस्पताल के डॉक्टरों ने तत्काल हार्ट सर्जरी करने का फैसला किया है। सोनी ने बताया कि इलाज के लिए अनुमानित लागत 89,692.50 डॉलर यानी लगभग 70 लाख रुपये है। हालांकि यह सिर्फ अनुमान है और उपचार के दौरान खर्च ज्यादा भी हो सकता है। सोनी ने बताया कि उनके कोटे में अस्पताल में रहने, आपरेशन थिएटर फीस की लागत शामिल है। सोनी ने अपने पिता के इलाज के लिए आखिर में क्राउडफंडिंग प्लेटफॉर्म GoFundMe पर आम लोगों से अपील की है ताकि उनके पिता के जीवन को बचाने में मदद मिल सके।

GoFundMe पर उन्होंने अपील में लिखा है कि सभी सुंदर आत्माओं को नमस्कार, मैं सोनी हूं। मैं अपने पिता लाभ सिंह के लिए धन उगाही कर रही हूं। वह भारत से आए थे और कुछ ही हफ्तों में बीमार हो गए। कृपया मेरी मदद करें। आपका योगदान उनकी जान बचा सकता है। मुझे उनकी जान बचाने के लिए आपकी मदद की जरूरत है। बता दें कि अब तक GoFundMe पर इस अपील से वह 80 दाताओं से 8232 डॉलर ही जुटा पाई हैं। जबकि उन्हें 90,000 डॉलर की आवश्यकता है।