समाज को समर्पित किया जीवन, इस भारतवंशी इंजीनियर के नाम US में होगी क्रिकेट पिच

भारत से अमेरिका पहुंचकर जसवंत मोदी ने शिक्षा की अलख जगाई रखी और उटा, ओहायो और न्यू जर्सी के विश्वविद्यालयों से उच्च शिक्षा हासिल की। उन्होंने अमेरिका में लगभग 5 दशक तक बतौर इंजीनियर के रूप में काम किया था।

समाज को समर्पित किया जीवन, इस भारतवंशी इंजीनियर के नाम US में होगी क्रिकेट पिच
भारतवंशी जसवंत मोदी के नाम पर अमेरिका में क्रिकेट पिच।

अमेरिका में एक क्रिकेट पिच को प्रतिष्ठित भारतवंशी एक्टिविस्ट जसवंत 'जय' भाईलाल मोदी का नाम दिए जाने की तैयारी चल रही है। फेडरेशन ऑफ इंडियन असोसिएशन के वाइस प्रेसिडेंट रहे जसवंत मोदी के योगदान को देखते हुए यह फैसला किया गया है। उनकी न्यूजर्सी के पिस्काटावे में जुलाई 2021 को मौत हो गई थी, वह तब 83 वर्ष के थे। 15 मई को पिस्काटावे टाउनशिप के क्विबलटाउन पार्क में एक कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा जिसमें पिच को आधिकारिक रूप से जसवंत मोदी का नाम दिया जाएगा। इस पिच का इस्तेमाल भविष्य में क्रिकेट मैच के लिए पिस्काटावे क्रिकेट अकैडमी (PCA) द्वारा किया जाएगा।

पिस्काटावे टाउनशिप के मेयर ब्रायन सी. वाहलर ने कहा, 'यह क्रिकेट पिच घंटों तक खेल के आनंद और समुदाय के जोश से भरा रहेगा। इसे जय का नाम देना, उचित सम्मान है जिन्होंने पिस्काटावे के लोगों के अवसर निर्माण और टाउनशिप बनाने में अपने कई साल दिए।' वहीं, शहर के काउंसिल सदस्य कपिल के. शाह ने कहा, ' जय मोदी का जीवन अपने परिवार, भारतीय समुदाय और अमेरिका को समर्पित था। वह दूसरे लोगों के कल्याण में लगे रहते थे।'

भारत के महाराष्ट्र राज्य में पले-बढ़े जसवंत मोदी ने मुंबई विश्वविद्यालय से पढ़ाई की थी। वह अमेरिका जाकर नौकरी करना चाहते थे, हालांकि तब अमेरिका जाना उतना आसान नहीं था। लेकिन उन्हें वहां जाकर अपने सपने को उड़ान देनी थी इसलिए उन्होंने कड़ी मेहनत कर पैसे जुटाए और जहाज का टिकट खरीदा। यह जहाज एक महीने की लंबी यात्रा के बाद न्यूयॉर्क पहुंचा। वहां पहुंचकर उन्होंने शिक्षा की अलख जगाई रखी और उटा, ओहायो और न्यू जर्सी के विश्वविद्यालयों से उच्च शिक्षा हासिल की। उन्होंने अमेरिका में लगभग 5 दशक तक बतौर इंजीनियर के रूप में काम किया था।

जसवंत मोदी अपने समुदाय के लोगों की सेवा में लगे रहते थे। उनकी इस सेवा को देखते असोसिएशन ऑफ इंडियन्स इन अमेरिका द्वारा उन्हें लाइफटाइम सर्विस अवॉर्ड से सम्मानित किया गया था। पिस्काटावे टाउन में जब पहली बार 'इंडिया डे परेड' का आयोजन हुआ, तो उसमें उनकी अहम भूमिका थी। जसवंत मोदी भारतीय समुदाय के साथ ही अमेरिकी समुदाय के बीच भी लोकप्रिय थे। भारतवंशी जसवंत के परिवार में उनकी पत्नी चंद्रिका, बेटा नील, बेटी लीना हैं।