गुरुद्वारे में 9 वर्ष पूर्व हुए जानलेवा हमले पर बाइडेन ने जताया दुख, दी श्रद्धांजलि

सिख संगठनों का कहना है कि वे राष्ट्रपति बाइडेन के नफरत व हिंसा के खिलाफ एक मजबूत रुख के लिए आभारी हें। जिस गुरुद्वारे पर जानलेवा हमला हुआ था वह वर्ष 1997 में स्थापित किया गया था। अमेरिका में सिखों की आबादी करीब 6,50,000 है।

गुरुद्वारे में 9 वर्ष पूर्व हुए जानलेवा हमले पर बाइडेन ने जताया दुख, दी श्रद्धांजलि

ओक क्रीक गुरुद्वारा में सिखों पर हुए हमले की 9वीं वर्षगांठ के अवसर पर राष्ट्रपति ​जो बाइडेन के बयान का सिख समुदाय ने स्वागत किया है। राष्ट्रपति ​बाइडेन ने गुरुवार को एक ट्वीट करते हुए बयान जारी किया जिसमें उन्होंने अमेरिकी में रहने वाले नागरिकों को बिना किसी डर और खतरे के सभी धर्मों की स्वतंत्रता का आदर करने की बात कही, साथ ही घृणा और कट्टरता के खिलाफ खड़े होने का आह्वान भी किया। दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमिटी (DSGMC) ने भी इस घटना पर दुख जताया है और कहा है कि अमेरिकी सरकार भी अब सिखों के दुख-दर्द का साझा कर रही है।

दरअसल, 9 साल पहले 5 अगस्त 2012 के दिन एक बंदूकधारी ओक क्रीक में मौजूद गुरुद्वारा में घुस गया और उसने अंधाधुंध गोलिया चला दी थीं। इस हादसे में छह लोगों की मौत हो गई थी, जबकि कई घायल हो गए थे। हादसे के दौरान भगदड़ मचने से भी काफी लोग घायल हुए थे।