17,000 भारतीयों को यूक्रेन से निकाला, 3,352 पहुंचे देश, 15 फ्लाइट शेड्यूल में

भारत में पोलैंड के राजदूत एडम बुराकोव्स्की ने मीडिया को बताया कि लगभग 1,700 भारतीय सुबह 7 बजे (पोलिश समय) तक सुरक्षित रूप से पोलैंड पहुंच चुके थे। अभी तक कुल मिलाकर 2,000 भारतीय छात्रों ने पौलेंड में प्रवेश किया है।

17,000 भारतीयों को यूक्रेन से निकाला, 3,352 पहुंचे देश, 15 फ्लाइट शेड्यूल में

भारत सरकार के​ विदेश मंत्रालय ने ताजा अपडेट में बताया है कि 17,000 भारतीयों को युद्धग्रस्त देश यूक्रेन से सुरक्षित निकाला जा चुका है। इनमें 3,352 भारत पहुंच चुके हैं। विदेश मंत्रालय ने मीडिया ब्रीफिंग में बताया कि अगले 24 घंटे में भारतीयों को ले जाने के लिए 15 फ्लाइट शेड्यूल में हैं। दूसरी ओर भारतीय वायुसेना का C-17 हवाई विमान भी भारतीय समयानुसार सुबह 4 बजे रोमानिया के बुखारेस्ट के लिए रवाना हो गया था जो देर रात छात्रों को लेकर भारत पहुंचेगा। यूक्रेन में फंसे भारतीयों के लिए मोदी सरकार में केंद्रीय मंत्री वीके सिंह ने भी बड़ा बयान देते हुए कहा कि जिनकी पढ़ाई अधूरी रह गई वो चिंता न करें उनकी पढ़ाई की​ जिम्मेदारी सरकार लेगी।

शेष 40 फीसदी में से लगभग आधा खार्किव और सुमी क्षेत्र के संघर्ष क्षेत्र में हैं और बाकी आधे यूक्रेन की पश्चिमी सीमाओं तक पहुंच गए हैं।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने बताया कि पिछले 24 घंटों के दौरान 6 उड़ानें भारत पहुंची हैं जिससे भारत में कुल उड़ानों की संख्या 15 हो गई है और इन उड़ानों से लौटने वाले भारतीयों की कुल संख्या 3,352 है। बता दें कि रूसी सैन्य कार्रवाई में संभावित वृद्धि को देखते हुए कीव में भारतीय दूतावास को बंद कर दिया गया है और कर्मचारियों को स्थानांतरित कर दिया गया है। कीव शहर में कोई भारतीय नागरिक नहीं बचा है।