60 हजार अफगानी भारत में 'शरण' लेना चाहते हैं, सरकार कर रही है विचार

खुफिया एजेंसियों की रिपोर्ट आने का इंतजार किया जा रहा है जिसके बाद ही आवेदकों को वीजा जारी किया जाएगा। अंतिम फैसला सुरक्षा एजेंसियों की मंजूरी के बाद ही किया जाएगा।

60 हजार अफगानी भारत में 'शरण' लेना चाहते हैं, सरकार कर रही है विचार
Photo by Ehimetalor Akhere Unuabona / Unsplash

अफगानिस्तान में तालिबान के शासन के बाद से आम जिंदगी संकट में है। ऐसे में भारत की सरकार नए 'ई-आपातकालीन एक्स-विविध वीजा' के तहत अफगान नागरिकों के लगभग 60,000 वीजा आवेदनों पर विचार कर रही है।

A Girl Looks on Among Afghan Women Lining Up To Receive Relief Assistance, During The Holy Month of Ramadan in #Jalalabad, #Afghanistan.
शुरुआत के पहले दो दिनों के दौरान अफगान नागरिकों के लगभग 20,000 वीजा अनुरोध प्राप्त हुए थे। Photo by IsaaK Alexandre KaRslian / Unsplash

भारत के गृह मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि तालिबान के काबुल पर कब्जा करने के बाद भारत में प्रवेश के लिए तत्काल आवेदनों की सुविधा और तेजी से ट्रैक करने के लिए 'ई-आपातकालीन एक्स-विविध वीजा' पेश किया गया था। इसके संबंध में आदेश 17 अगस्त को जारी किया गया था और सभी स्टांप वीजा तत्काल प्रभाव से रद्द कर दिए गए थे।

दरअसल भारतीय दूतावास द्वारा 15 अगस्त से पहले जारी किए गए इन स्टांप वीजा को कथित तौर पर 11,000 से अधिक वीजा चोरी हो जाने के बाद रद्द कर दिया गया था। यह फैसला केंद्र सरकार ने सुरक्षा कारणों की वजह से लिया था और इसके बाद सरकार ने ई-वीजा शुरू किया था। भारत को 'ई-आपातकालीन एक्स-विविध वीजा' की शुरुआत के पहले दो दिनों के दौरान अफगान नागरिकों के लगभग 20,000 वीजा अनुरोध प्राप्त हुए थे।